बांग्लादेशी घुसपैठ का मामला एक बार फीर से चर्चा में

बांग्लादेशी घुसपैठ का मामला एक बार फीर से चर्चा में

साहिबगंज : हाई कोर्ट के आदेश के बाद संताल क्षेत्र में बांग्लादेशी घुसपैठ का मामला एक बार फीर से चर्चा में आ गया है।

हाईकोर्ट द्वारा इस मामले में उपायुक्तों से रिपोर्ट मांगे जाने की बात सामने आने के बाद साहिबगंज जिला प्रशासन तैयारी में जुट गया है।

मामले की जांच के लिए उप विकास आयुक्त सतीश चंद्रा की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय कमेटी गठित करने का प्रस्ताव है, जिसमें अपर समाहर्ता राज माहेश्वर व ईआरओ (निर्वाचन निबंधन पदाधिकारी) शामिल होंगे।

राजमहल विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचन निबंधन पदाधिकारी राजमहल एसडीओ, बरहेट के निर्वाचन निबंधन पदाधिकारी स्वयं अपर समाहर्ता राज महेश्वरम व बोरियो के ईआरओ सदर एसडीओ अंगारनाथ स्वर्णकार हैं। जल्द ही इस संबंध में आदेश निर्गत

होने व जांच शुरू होने की उम्मीद है। पिछले दिनों राजमहल विधायक अनंत ओझा ने चुनाव आयोग के पदाधिकारियों से मुलाकात कर राजमहल विधानसभा क्षेत्र के कई बूथों पर मतदाताओं की संख्या दोगुनी से भी अधिक बढ़ने की शिकायत की थी।

विधायक के अनुसार राजमहल विधानसभा क्षेत्र के 187 नंबर मतदान केंद्र (प्रखंड परिसर) पर 2019 में 672 मतदाता थे जिनकी संख्या इस साल के लोकसभा चुनाव में बढ़कर 1461 हो गई। इसी तरह बूथ नंबर 208 (मानसिंघा मदरसा) पर 2019 में 754 मतदाता थे जिनकी संख्या इस बार बढ़कर 1189 हो गई।

Share with family and friends: