Tuesday, October 4, 2022
spot_img

इस्तीफे के बाद सीएम नीतीश ने खोला आरोपों का पिटारा

Patna– मुख्यमंत्री पद से अपने इस्तीफे के बाद पहली बार मीडिया के सामने रुबरु हुए नीतीश कुमार ने आरोपों का पिटारा खोला. आरसीपी सिंह को लेकर पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि जिस आदमी को जमीन से आसमान पर चढ़ाया, वह अजीब-अजीब बयान दे रहा है. देश में बढ़ती सांप्रदायिक माहौल की चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि पार्टी के हर व्यक्ति ने हमसे कहा कि देश में सांप्रदायिक माहौल खराब हो रहा है. हम समाज में कोई विवाद पैदा नहीं होने दे सकतें. यह हमारा एजेन्डा है यही बिहार को आगे बढ़ाने का रास्ता है.

देश में बिगड़ते सामाजिक सौहार्द से होती है पीड़ा

नीतीश कुमार ने कहा कि जिस प्रकार देश में सामाजिक सौहार्द खराब हो रहा था, उससे हमें पीड़ा हो रही थी. अच्छा नहीं लग रहा था. सामाजित सौहार्य को बिगाड़ने की किसी भी कोशिश को हम बर्दाश्त नहीं कर सकतें. 2017 में ही हमने कहा था कि कोई गड़बड़ करेगा, तो कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. लेकिन जो स्थिति बनायी जा रही है, उसे किसी  भी कीमत पर अच्छा नहीं कहा जा सकता. कम सीट होने के कारण हम 2020 में भी मुख्यमंत्री बनने को तैयार नहीं थें. लेकिन बार बार आग्रह किया गया. हमारे बारे यह साफ होना चाहिए कि हम भ्रष्टाचार और सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने की किसी भी कोशिश को बर्दाश्त नहीं कर सकतें.

बिहार वासियों को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि आप लोग कोई चिंता मत कीजिए, अब सब लोग एक साथ रहेंगे. दूसरे राज्यों में क्या हो रहा है, सीबीआई और ईडी के सवाल पर उन्होंने कहा कि जो हो रहा है देख रहें हैं.

हिंदी पट्टी में अब भाजपा को कोई पार्टनर नहीं- तेजस्वी यादव

मुख्यमंत्री नीतीश के बाद तेजस्वी यादव ने भी अपना पक्ष रखा. तेजस्वी यादव ने कहा कि हिंदी पट्टी में अब कोई भी भाजपा का पार्टनर नहीं रहा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को महागठबंधन ने अपना नेता माना है. यह इतिहास है कि भाजपा जिसके साथ रहती है, उसको खत्म करने  की साजिश रचती रहती है. पंजाब, महाराष्ट्र में देख लीजिए, बिहार में जो कुछ हो रहा था, वह सबको पता है. भाजपा की क्या तैयारी थी, जो देश में अराजकता का माहौल बन रहा है.

क्रांति दिवस के दिन बिहार से एक क्रांति

सांप्रदायिक माहौल बिगड़ रहे हैं. संप्रदायिक ताकते फल-फूल रही हैं. सामाजिक न्याय पर हमला हो रहा है. मंगाई हो या बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था का हाल देख लीजिए. देश की सुरक्षा व्यवस्था देख लीजिए. चीन घुसकर गांव बस आ रहा है. और आप क्या कर रहे हैं.

आज का दिन महत्वपूर्ण है. आज के दिन क्रांति दिवस है.  आज ही के दिन हमारे पूर्वजों ने भारत छोड़ो आंदोलन का नारा दिया था. बिहार ने एक बार फिर से देश को रास्ता दिखलाया है. विपक्ष के तमाम पार्टियों के लिए भी संदेश है.

 आज पूरे देश में जनता विकल्प चाहती है, विकल्प खोज रही है. बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिला. कई प्लेटफार्म पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मांग की. पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाने की मांग को खारिज कर दिया गया.

क्षेत्रीय दलों को समाप्त करने की कोशिश लोकतंत्र पर हमला

बीजेपी कह रही है कि सारे के सारे क्षेत्रीय दल समाप्त हो जाएंगे. इसका मतलब है कि विपक्ष को समाप्त करेंगे. लोकतंत्र के समाप्त करेंगे. इस प्रकार की भाषा बिहार की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी. यह हमारा दायित्व है कि विपक्ष को जिंदा रखा जाए. हम पर संविधान को बचाने का दायित्व है. भारतीय जनता पार्टी का एक ही काम है कि जो डरता है उसे डराना, जो बिकता है उसे खरीदो. झारखंड में क्या हो रहा है,

सबको पता है. आज पांच दलों की बैठक हुई, हम पर निर्णय लेने की जिम्मेवारी दी गयी. हम लोग ने निर्णय लिया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्णय के साथ रहेंगे. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोकतंत्र बचाने के लिए सदा संघर्ष किया, उनकी पूरी जिंदगी गंगा जमुनी तहजीब को बचाने में लगी रही.

हम लोग समाजवादी लोग हैं. हमारे पुरखों के संपत्ति है. वह कोई और ले जाएगा क्या. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मैं धन्यवाद देता हूं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के धन्यवाद के साथ लालू प्रसाद यादव को धन्यवाद देता हूं. विचारधारा की लड़ाई है। चाचा भतीजा है. लड़ाई झगड़े होते हैं.साथ ही रहे हैं.

बहुत कुछ कहे हैं. हम लोग समाजवादी हैं. साथ रहेंगे हर घर में लड़ाई होती है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधानमंत्री दावेदार के रूप के सवाल पर उन्होंने कहा कि जातीय जनगणना पर हम लोग एक साथ है. जाति जनगणना पर बीजेपी का क्या रोल था, वह सबको पता है. नीतीश कुमार के शुरु से पीएम मैटेरियल रहे हैं. वह देश के सबसे अनुभवी राजनेता है. आने वाले दिनों में उन्हे कई जिम्मेवारियों निभानी है.

Related Articles

Stay Connected

50,000FansLike
182FollowersFollow
60,000SubscribersSubscribe

Latest Articles