Tuesday, October 4, 2022
spot_img

बिहार में बैठकों का दौर जारी, भाजपा को है फैसले का इंतजार

Patna– बिहारी में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच मुख्यमंत्री आवास पर जदयू विधायक और सांसदों की बैठक शुरु हो चुकी है. जदयू की इस बैठक में पार्टी के सभी बड़े नेता और सांसद- विधायक मौजूद हैं. अब तक किसी प्रकार का अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है, मीडिया कर्मियों सहित पूरा बिहार दम साध कर इस बैठक में लिए गये निर्णयों का इंतजार कर रहा है.

राबड़ी आवास पर जारी है महागठबंधन की बैठक

इस बीच राबड़ी आवास पर महागठबंधन की बैठक शुरु हो चुकी है. राजद, भाकपा माले, सीपीआई एमएल और कांग्रेस के विधायक बैठक में मौजूद हैं. सूत्रों के अनुसार इस बैठक में अब तक यह राय बनी है कि तेजस्वी यादव का जो भी फैसला होगा, उसका पालन महागठबंधन की ओर से किया जाएगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिना शर्त समर्थन भी दिया जा सकता है. सारे विधायक एक स्वर से तेजस्वी यादव के निर्णय के साथ हैं.    

आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद बदली बिहार की राजनीति

यहां बतला दें कि आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद बिहार में राजनीतिक सरगर्मी काफी तेज है. जदयू ने आरसीपी सिंह सत्ता में रहते हुए अकूत संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया है, आरोप यह भी है कि भाजपा आरसीपी सिंह को आगे कर जदयू को दो भाड़ करने की साजिश रच रही थी. यह साजिश कई महीनों से चल रही थी. माना जा रहा है कि जदयू को इस साजिश की जानकारी लगते ही और इससे निपटने की तैयारियों की जाने लगी थी. यही कारण है कि जदयू ने एक प्रकार से आरसीपी सिंह को पार्टी छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया.

भाजपा कोटे के मंत्रियों का इस्तीफा तैयार

इस बीच खबर यह भी आ रही है कि भाजपा के कोटे के सभी 16 मंत्रियों ने अपना इस्तीफा तैयार कर लिया है, किसी भी वक्त वह अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री को सौंप सकते हैं.

यहां बता दें कि मुख्यमंत्री आवास पर जदयू विधायक और सांसदों जारी है. इस बैठक में जदयू के सभी विधायक और सांसद मौजूद हैं, बैठक के फैसलों की जानकारी अब तक मीडियाकर्मियों को नहीं दी गयी है, लेकिन इस बीच मुख्यमंत्री के द्वारा  राज्यपाल मिलने की समय की मांग करना  बैठक में लिए गये निर्णयों की ओर इशारा करता है. इधर राबड़ी आवास पर महागठबंधन की बैठक भी जारी है. इस बैठक में राजद, भाकपा माले, सीपीआई एमएल और कांग्रेस के सभी विधायक बैठक में मौजूद हैं.

किसी भी फैसले की लिए तेजस्वी अधिकृत

सूत्रों के अनुसार अब तक नेता विपक्ष रहे तेजस्वी यादव को किसी भी फैसले के लिए अधिकृत किया गया है, यह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बगैर किसी शर्त समर्थन भी हो सकता है. सारे विधायक एक स्वर से तेजस्वी यादव के द्वारा लिये जा रहे निर्णय के साथ खड़े हैं. इस बीच खबर यह भी आई है कि तेजस्वी यादव की ओर से गृह मंत्रालय और विधान सभा अध्यक्ष के पद की मांग की गयी है.

.    

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मांगा मिलने का समय

Related Articles

Stay Connected

50,000FansLike
182FollowersFollow
60,000SubscribersSubscribe

Latest Articles