कहानी 11 नंबवर की

डबल इंजन की डबल लूट, 20 वर्षो में दोनों हाथों से झारखंड को लूटा गया- हेमंत

Seraikela– कहानी 11 नंबवर की-आपकी योजना आपकी सरकार के माध्यम से विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास और उद्धाटन करने पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कार्यक्रम में मौजूद बालिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप किसी भी हालत में अपनी पढ़ाई मत छोड़ना, आपकी पढ़ाई के लिए हमारी सरकार आपके साथ खड़ी है, आप इंजीनियर बनना चाहते हो, या प्रशासनिक अधिकारी सरकार आपके साथ खड़ी है, सिर्फ यही नहीं यदि आप विदेश में भी अपनी पढ़ाई करने का इरादा रहते हैं तो भी सरकार आपके साथ खड़ी है. हम आपको पढ़ाई के लिए विदेश भेजेंगे.

कहानी 11 नंबवर की, हमने 11 नंबवर को रच दिया इतिहास

कल का विधान सभा में विशेष सत्र की चर्चा करते हुए सीएम हेमंत ने कहा कि झारखंड दुर्भाग्य यह रहा है कि झारखंड गठन के बाद अलग झारखंड राज्य की मांग करने वालों के हाथोंं में राज्य की सत्ता रही. अब उनसे इस राज्य की बेहतरी की उम्मीद कैसे की जा सकती, उन्होंने कहा कि 11 नंबवर 1908 को हमें सीएनटी एक्ट मिला था. फिर 11 नंबवर को 2021 सरना धर्म कोड की मांग राज्य की विधान सभा से पारित कर केन्द्र सरकार को भेजी गयी, और अब 11 नंबवर को 2022 को हम विधान सभा के विशेष सत्र से 1931 का खतियान को पारित किया, ओबीसी आरक्षण का दायरा बढ़ा कर 27 फीसदी किया.

निजी क्षेत्र की नौकरियों में आदिवासी-मूलवासियों को 75 फीसदी आरक्षण

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि जल्द ही हम कैंप लगाकर

आदिवासी मूलवासियों युवाओं को नौकरी देने का काम किया जायेगा.

उन्होने कहा कि झारखंड गठन के बाद 20 वर्षों तक झारखंड की सत्ता

झारखंड आन्दोलन का विरोध करने वालों को हाथ रही और

बात भी सही है उनसे आप झारखंड की बेहतरी की उम्मीद भी कैसे कर सकते हैं.

देशी कट्टा और जिंदा कारतूस के साथ दो गिरफ्तार

Similar Posts