30.8 C
Jharkhand
Sunday, April 14, 2024

Live TV

मिथिलावासी को बड़ी सौगात, अत्याधुनिक खाद्य भंडारण गृह का उद्घाटन

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अश्विनी कुमार ने किया उद्घाटन। अदानी एग्री लोजिस्टिक्स लिमिटेड द्वारा आधुनिक तकनीक से है निर्मित

दरभंगा में भारतीय खाद्य निगम मंडल कार्यालय दरभंगा के अंतर्गत जाले के जोगियारा रविवार को 50,000 एमटी क्षमता वाले नवनिर्मित गेंहू भंडारण साइलो का उद्घाटन केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने किया। यह साइलो पीपीपी मॉडल पर भारतीय खाद्य निगम के लिए निजी क्षेत्र की भागीदारी से अदानी एग्री लोजिस्टिक्स लिमिटेड द्वारा निर्मित किया गया है। ​साइलो कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन केन्द्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे द्वारा उद्घाटन पट्टीका का अनावरण कर तथा साइलो के विद्युत् कक्ष में स्थित नियंत्रण प्रणाली का विधिवत बटन दबाकर कॉनवेयर बेल्ट का शुभारंभ किया गया। साथ ही राज्य मंत्री ने गेंहू खरीद केंद्र का भी उद्घाटन किया। इस अवसर पर कार्यकारी निदेशक (मुख्यालय) अजीत कुमार सिन्हा ने केंद्रीय मंत्री तथा गणमान्य अथितियों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि साइलो के आने से दरभंगा व साथ के जिलों में अनाज भंडारण में काफी सहायता मिलेगीl

इस अवसर पर राजयसभा सांसद डॉ धर्मशीला गुप्ता, दरभंगा के सांसद डॉ गोपाल जी ठाकुर, मधुबनी के सांसद डॉ अशोक कुमार यादव, एमएलसी हरि सहनी और विधायक जीवेश कुमारसहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे। केन्द्रीय राज्य मंत्री, अश्विनी कुमार चौबे ने इस अवसर पर कहा कि यह भण्डारण साइलो केंद्र की ओर से मिथिला वासियों को सौगात है तथा इसके प्रारंभ होने से इस क्षेत्र में भारतीय खाद्य निगम की अनाजों की भंडारण क्षमता बढ़ेगी, रोजगार सृजन हो सकेगा, तेजी से अनाज का संचलन होगा तथा राज्य में उत्पादित अनाज के भंडारण में यह बहुत ही मददगार होगा। इस अवसर पर केन्द्रीय राज्य मंत्री एवं अन्य अतिथियों ने साइलो परिसर में पौधारोपण भी किया एवं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लाभार्थियों को 10 किलो बैग में खाद्यान्न का वितरण भी किया।

केंद्रीय मंत्री द्वारा साइलो परिसर में स्थापित गेहूँ खरीदी केंद्र का भी उद्घाटन किया गया । विदित हो कि आगामी रबी विपणन वर्ष 2024-25 के तहत 15 मार्च, 2024 से पूरे बिहार राज्य के सभी जिलों में गेहूँ की खरीद शुरू हो जाएगी तथा गेहूँ के न्यूनतम समर्थन मूल्य रूपए 2275/- प्रति क्विंटल के हिसाब से किसानो को भुगतान 48 घंटे के भीतर सुनिश्चित किया जाएगा। अतिथियों ने किसानों को यह सलाह दी कि वे इस योजना का अधिक से अधिक लाभ उठावेंl यह साइलो भारतीय खाद्य निगम के साथ निजी- सार्वजनिक साझेदारी मॉडल के तहत निर्मित गेहू भंडारण के लिए साइलो है जो अड़ानी एग्री लोजिस्टिक्स लि. द्वारा डिजाइन-बिल्ड-फाइनेंस-ओन- ऑपरेट मॉडल के तहत निर्मित किया गया है।

दरभंगा स्थित साइलो की भण्डारण क्षमता 50000 मीट्रिक टन (हेतु 12500 मी.टन X 4 साइलो बिन) है जिसका उपयोग भारतीय खाद्य निगम आगामी 30 वर्षों तक खाद्यान्न का भंडारण हेतु किया जायेगा जबकि साइलो का संचालन निजी संस्था द्वारा किया जाएगा। स्टील साइलो का मुख्य उद्देश्य फसल कटाई के बाद भण्डारण के दौरान होने वाले नुकसान को कम करने, अनाज की गुणवत्ता को संरक्षित करने और निजी क्षेत्र की भागीदारी के माध्यम से खाद्यान्न के थोक रखरखाव औ रभंडारण के लिए आधुनिक बुनियादी ढांचे के माध्यम से खाद्यान्न की मात्रा और गुणवत्ता संरक्षित करना है।

इस दौरान भारतीय खाद्य निगम के कार्यकारी निदेशक मुख्यालय डॉ अजीत कुमार सिन्हा, आंचलिक कार्यालय (पूर्व) के मुख्या महाप्रबंधक विजय पराशर, बिहार महाप्रबंधक अमित भूषण क्षेत्र सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। ​कार्यक्रम के अंत में मुख्य महाप्रबंधक (कोलकाता) विजय पाराशर एवं बिहार महाप्रबंधक अमित भूषण ने सभी अतिथियों को उनके आगमन हेतु धन्यवाद दिया। इस अवसर पर भारतीय खाद्य निगम, बिहार क्षेत्र के उप महाप्रबंधक आनन्द कुमार, मण्डल प्रबंधक, मण्डल कार्यालय दरभंगा के संतोष कुमार आदि, क्षेत्रीय कार्यालय पटना से सहायक महाप्रबंधक विजय सिंह, दुर्गेश, कुमार अभिषेक एवं सिकंदर मांझी आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Stay Connected

115,555FansLike
10,900FollowersFollow
314FollowersFollow
16,171SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles