राजनीतिक गहमा-गहमी

सीएम से ईडी की पूछताछ से पहले रांची में चढ़ा सियासी पारा

author
0 minutes, 3 seconds Read

RANCHI: राजनीतिक गहमा-गहमी – अवैध खनन मामले में हेमंत सोरेन से ईडी की पूछताछ से

पहले झारखंड की राजधानी रांची में राजनीतिक गहमा – गहमी काफी बढ़ गई है.

खासतौर से सत्तापक्ष में काफी हलचल दिख रही है. बीजेपी खेमे में तो

शांति दिख रही है लेकिन झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस खेमे में

गतिविधियां काफी बढ़ी हुई है. आज शाम सात बजे यूपीए विधायक दल

की बैठक बुलाई गई है. ये बैठक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) के आवास पर होगी.

इससे पहले दोपहर 12 बजे झारखंड मुक्ति मोर्चा विधायक दल की बैठक होगी

और दोपहर बाद 4 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी.

कांग्रेस विधायक दल की बैठक पार्टी विधायक दल के नेता आलमगीर आलम

के आवास पर होगी. सभी विधायकों को रांची में रहने के लिए कहा गया है.

दोनों पार्टियों की ओर से बताया गया है कि सरकार के कामकाज और

मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा के लिए ये बैठकें बुलाई गई है.

इस बीच कांग्रेस पार्टी ने अपनी भारत जोड़ो यात्रा को भी स्थगित कर दिया है.

राजनीतिक गहमा-गहमी – ED कार्यालय में कल CM हेमंत सोरेन होंगे उपस्थित

पार्टी की ओर से बताया गया है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी की

ओर से भेजे गए समन को देखते हुए यात्रा स्थगित करने का

फैसला लिया गया है. प्रवर्तन निदेशालय यानि ईडी ने

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पूछताछ के लिए 17 नवंबर को बुलाया है.

मुख्यमंत्री से ये पूछताछ अवैध खनन मामले में होनी है.
इससे पहले 15 नवंबर को भी दिनभर राजनीतिक गहमा – गहमी बनी रही.

राजनीतिक कारणों से स्थापन दिवस कार्यक्रम भी प्रभावित रहा.

मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में

राज्यपाल रमेश बैस नहीं पहुंचे जिसे लेकर चर्चा का बाज़ार काफी गर्म रहा.

राष्ट्रपति के दौरे के कार्यक्रम में भी बदलाव को लेकर सरकार

के आयोजन में उहाफोह की स्थिति बनी रही. 15 नवंबर को सुबह से ही मुख्यमंत्री और राज्यपाल में समन्वय की कमी दिखी. सुबह बिरसा मुंडा की समाधि पर राज्यपाल रमेश बैस पहले पहुंचे और मुख्यमंत्री बाद में पहुंचे. इसके बाद से ही राजनीतिक हलकों में चर्चा का दौर शुरू हो गया.

रिपोर्ट: मदन

सीएम आज 10459 नए पुलिसकर्मियों को सौंपेंगे नियुक्ति पत्र

Similar Posts