रथ यात्रा: ट्रैफिक रूट बदला, सुरक्षा के लिए 20 मजिस्ट्रेट व 500 पुलिसकर्मी तैनात, 17 तक बंद रहेंगे इलाके के स्कूल

रथ यात्रा: ट्रैफिक रूट बदला, सुरक्षा के लिए 20 मजिस्ट्रेट व 500 पुलिसकर्मी तैनात, 17 तक बंद रहेंगे इलाके के स्कूल

रांची:जगन्नथपुर में रथ यात्रा के साथ मेले के लिए रविवार से ट्रैफिक रूट में बदलाव किया गया है। तिरिल मोड़ और शहीद मैदान से लेकर मौसीबाड़ी होते हुए गोलचक्कर तक सभी वाहनों के परिचालन पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है।

इसके दो गई अलावा प्रभात तारा मैदान तिराहा से जगन्नाथपुर बाजार तक वाहनों की इंट्री बंद रहेगी। इसके लिए अलग अलग 20 जगहों पर ड्रॉप गेट बनाए गए हैं। सभी ड्रॉप गेट पर अतिरिक्त जवानों की तैनाती की गई है।

सुरक्षा में तैनात जवानों को सख्त निर्देश दिया गया है कि ड्रॉप गेट से आगे किसी भी हाल में वाहन सवार को प्रवेश नहीं देंगे। ट्रैफिक एसपी कैलाश करमाली ने इससे संबंधित आदेश शनिवार को जारी कर दिया है।

वाहन सवार रिंग रोड से ही अपने गंतव्य तक परिचालन कर सकेंगे। ट्रैफिक एसपी ने जगन्नाथपुर ट्रैफिक थानेदार को स्पष्ट निर्देश दिया है कि वे खुद अपनी टीम के साथ लगातार भ्रमणशील रहते हुए यातायात व्यवस्था सुगम बनाएंगे। कहीं भी किसी को परेशानी न हो।

मेला क्षेत्र के स्कूल 17 जुलाई तक बंद रहेंगे। डीसी राहुल कुमार सिन्हा और एसएसपी चंदन सिन्हा ने संयुक्तादेश जारी करते हुए 20 मजिस्ट्रेट और 500 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया है। मेला परिसर की निगरानी के लिए तीन वॉच टावर बनाए गए हैं। वहीं, सीसीटीवी कैमरा और ड्रोन से भी पुलिसकर्मी चप्पे-चप्पे पर नजर रखेंगे। महिलाओं से छेड़खानी रोकने के लिए सादे लिबास में महिला पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। मेला परिसर में दारू की बिक्री पर पूरी तरह राेक लगा दी गई है।

17 तारीख तक चलने वाले मेला में कई स्टॉल लगाए गए है। प्रशासन ने सभी स्टॉल में खाद्य सामग्री की जांच का निर्देश  दिया गया है। मेला में रात 9 बजे तक ही झूला के संचालन की इजाजत होगी।

मंदिर में पूजन कार्यक्रम में भीड़ को रोकने के लिए महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग प्रवेश द्वार बनाए गए हैं। मुख्य द्वार सहित प्रवेश व निकास मार्ग पर भी मजिस्ट्रेट व पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

इसके अलावा एक विशेष दस्ता को नियुक्त किया गया है, जो गश्त लगाते हुए असमाजिक तत्वों से निपटेगी।

Share with family and friends: