सर्दियों के मौसम में रखें अपने गले का खास ख्याल, जानें कुछ घरेलु उपाय

author
0 minutes, 0 seconds Read

RANCHI: बदलते मौसम में अक्सर गले में खरास, आवाज बंद होना या

गला बैठना जैसी समस्याएं आती है. खानपान में ठंडे पदार्थों का

उपयोग कुछ लोगों के लिए गले की समस्या लेकर आती है.

आइसक्रीम, दही, केला, कोल्डड्रिंक्स आदि के ज्यादा उपयोग

से भी कुछ लोगों को गले की समस्या आती है. आइये जानते हैं

कुछ घरेलू उपाय जो कि आपको गले की समस्या से निजात देगी.
आपके किचन में रखी कुछ घरेलू सामान के इस्तेमाल

से आप अपने गले को ठीक कर सकते हैं.

नमक के पानी से गरारे करें


गला बैठने की समस्या से निजात पाने के लिए गर्म पानी में

नमक डालकर गरारा करें. गुनगुने नमक पानी से गरारा करने से

गले की सूजन, दर्द और गला बैठने की समस्या से निजात मिलेगी.


काली मिर्च के उपयोग से मिलेगी गले को राहत


गला बैठ गया है तो आप इससे राहत पाने के लिए एक चम्मच

शहद में आधा चम्मच काली मिर्च मिलाएं. इस मिश्रण का सेवन

दिन में 2-3 बार करें, इससे आपको बहुत जल्दी आराम मिलेगा. आप चाहे तो काली मिर्च की चाय भी बना कर पी सकते हैं.


अदरक का सेवन करें


गला बैठने की समस्या से निजात पाने के लिए आप दूध में अदरक कूट कर डालें और उसे गर्म करें. जब यह गुनगुना हो जाए तो इसे पी सकते हैं. इसके अलावा आप अदरक को कूटकर उसके ऊपर नमक डालकर मुंह में रखें. इससे भी आराम मिलेगा.


सेब का सिरका ले


गले की समस्या से निजात पाने के लिए आप सेब का सिरका भी उपयोग कर सकते हैं. आप एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच का सिरका मिला कर पीये. पानी में सेब का सिरका डालकर गरारा भी कर सकते हैं. इससे गले में हो रही समस्या से निजात मिलेगी.

दालचीनी का उपयोग करें


दालचीनी की तासीर गर्म होती है और यह गले के लिए काफी फायदेमंद होता है. दालचीनी का एक छोटा टुकड़ा मुंह में कुछ देर रखने से भी आराम मिलता है. साथ ही दालचीनी के पाउडर की कुछ मात्रा शहद के साथ दिन में दो से तीन बार सेवन करने से गले की समस्या से जल्द निजात मिलेगी।

तुलसी का काढ़ा है गले के लिए रामबाण
तुलसी की पत्तियों में कई रोगों से लड़ने की क्षमता होती है. यह गले के दर्द, खरास से भी लड़ने में काफी सहायक होता है. तुलसी पत्ते का काढ़ा पीने से गले की समस्या में जल्द राहत मिलती है.

डिस्क्लेमरः यह आर्टिकल लोगों की सामान्य जानकारी के लिए है जो आम लोगों के अनुभव और उनकी राय पर आधारित है.

Similar Posts