लालटेन के सामने बीजेपी का 'चिराग' !

लालटेन के सामने बीजेपी का ‘चिराग’ !

चिराग पासवान की एनडीए में वापसी के संकेत !

पटना : बीजेपी का ‘चिराग’- ऐसा लगता है कि लोजपा रामविलास के अध्यक्ष एवं

सांसद चिराग पासवान की एनडीए में जल्द ही वापसी हो जायेगी.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय के बयान से स्पष्ट हो गया है कि

वे जल्द ही एनडीए में वापसी करेंगे. अगर चिराग पासवान की एनडीए में वापसी हो जाती है

तो बिहार की राजनीति में एक बार फिर करवट देखने को मिलेगा.

वहीं आगामी लोकसभा चुनाव 2024 में भी बिहार में इसका असर दिखेगा.

एनडीए में वापसी करेंगे चिराग पासवान- नित्यानंद राय

छठ पूजा को लेकर पटना पहुंचे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि

चिराग पासवान एनडीए में वापसी करेंगे. दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर

उन्होंने कहा कि चिराग पासवान के चुनाव प्रचार करेंगे. क्योंकि हमारे प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने

अधिकारिक बयान दिया है कि चिराग पासवान प्रचार करेंगे,

मतलब वह विधानसभा चुनाव प्रचार करेंगे. कहीं भी कोई भी हिचकिचाहट नहीं है.

चिराग पासवान पटना आ रहे हैं और वह चुनाव प्रचार करेंगे.

दोनों सीट पर एनडीए की होगी जीत

वहीं नित्यानंद राय ने बिहारवासियों को महापर्व छठ की शुभकामनाएं दी. वही तेजस्वी यादव के दोनों सीटों पर जीत के दावे को लेकर उन्होंने कहा कि केवल बातें करने वाले लोग हैं. मोकामा और गोपालगंज में जीत एनडीए की होगी.

चिराग के प्रचार से किसको मिलेगा फायदा ?

मोकामा से बीजेपी की प्रत्याशी सोनम देवी हैं जबकि गोपालगंज में बीजेपी की प्रत्याशी कुसुम देवी हैं. राजद ने मोकामा से अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी को प्रत्याशी बनाया है. जबकि गोपालगंज से मोहन गुप्ता को राजद ने मैदान में उतारा है. इधर, चिराग पासवान के प्रचार करने से किसे नुकसान होगा और किसका गेम ओवर होगा इसको लेकर सबसे बड़ा सवाल है. गोपालगंज में तो आरजेडी के खिलाफ तेजस्वी यादव की मामी भी मैदान में हैं. वहीं मोकामा की बात करें तो इस सीट पर दोनों तरफ से बाहुबलियों की पत्नी हैं. देखने वाली बात होगी कि इस बार चिराग पासवान के प्रचार से बीजेपी को कितना फायदा या नुकसान होगा.

नित्यानंद राय से पहले एलजेपीआर ने ये दिया था बयान

बता दें कि इससे पहले एलजेपीआर ने कहा था कि चिराग पासवान बीजेपी के लिए प्रचार नहीं करेंगे. बीजेपी ने ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं रखा है. चिराग की पार्टी ने साफ तौर पर कहा है कि चिराग पासवान एनडीए में नहीं हैं. और बीजेपी ने उनसे किसी भी तरह के प्रचार के लिए संपर्क नहीं किया है. एलजेपीआर ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के दावे को सिरे से खारिज कर दिया है.

बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करेंगे चिराग- संजय जायसवाल

गौरतलब है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने गुरुवार को बयान दिया था कि मोकामा और गोपालगंज विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में चिराग पासवान बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करेंगे. उन्होंने कहा था कि 31 अक्टूबर को चिराग मोकामा और एक नवंबर को चिराग गोपालगंज जाएंगे. दोनों सीटों पर बीजेपी चुनाव लड़ रही है. तीन नवंबर को दोनों सीटों पर वोटिंग होगी और छह को नतीजे आएंगे. मोकामा से बीजेपी की प्रत्याशी सोनम देवी हैं जबकि गोपालगंज में बीजेपी की प्रत्याशी कुसुम देवी हैं.

एनडीए से अलग होकर चिराग लड़ा था बिहार विधानसभा चुनाव

2020 का बिहार विधानसभा चुनाव चिराग पासवान ने एनडीए से अलग होकर लड़ा था. जेडीयू के खिलाफ हर सीट पर उम्मीदवार उतारे थे जिससे नीतीश कुमार की पार्टी करीब 30 सीटें हार गई. 43 सीटों पर ही जेडीयू सिमट गई थी. चिराग पासवान की पार्टी को करीब 25 लाख वोट मिले थे लेकिन एक ही विधायक पार्टी का जीत पाया था जो बाद में जेडीयू में शामिल हो गया. बाद में एलजेपी में टूट भी हुई और छह में से पांच सांसद अलग हो गए थे.

रिपोर्ट: राजीव कमल

Similar Posts