41 C
Jharkhand
Thursday, April 18, 2024

Live TV

Floriculture in Pakur : पहली बार हो रही सूरजमुखी की खेती, बना आकर्षण का केंद्र

Floriculture in Pakur : पाकुड़ के किसानों का रुझान इन दिनों सूर्यमुखी की खेती की तरफ बढ़ता जा रहा है.

लिट्टीपाड़ा के नवाडीह मे दुमका पाकुड़ मुख्य सड़क किनारे खेत मे सूर्यमुखी की खेती की जा रही है.

जो आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

हाईवे से गुजरने वाले वाहन में अगर किसी की नजर इन खेतों की तरफ पड़ती है तो वह रुक कर

सेल्फी लेने से खुद को नहीं रोक पाता है.

Floriculture in Pakur
Floriculture in Pakur
Floriculture in Pakur

हम कह सकते हैं इन दोनों सूरजमुखी की खेती सेल्फी प्वाइंट की तरह काम कर रहा है.

लोग कैमरा लेकर खेत पहुँचकर अपना अपना फोटोशूट कर रहे हैं.

प्रतिदिन यहां सैकड़ो की संख्या में लोग आकर फोटो शूट करते हैं.

दरसल दूसरों राज्यों से प्रेरणा लेकर लिट्टीपाड़ा नवाडीह के रहने वाली जोकसोना मुर्मू बिहार से बीज

लाकर सूरजमुखी की खेती कर रही है. जोकसोना मुर्मू पढ़ी-लिखी है.

Floriculture in Pakur
Floriculture in Pakur

यही कारण हैं वो अब नई चीजों की खेती मे रूचि दिखा रही हैं.

पाकुड़ मे पहली बार सूरजमुखी की खेती की जा रही है.

दरसल सूरजमुखी की खेती शुरू करने का समय फरवरी का प्रथम सप्ताह होता है.

इसके बाद सूरजमुखी की फसल तैयार होने में 90 से अधिक दिन का समय लगता है.

आपको बता दे की सूरजमुखी एक महत्वपूर्ण तिलहनी फसल है.

बेहतर मुनाफा देने वाली इस फसल को नगदी खेती के रूप में भी जाना जाता है.

Report : Sanjay

https://22scope.com

https://youtube.com/22scope

Related Articles

Stay Connected

115,555FansLike
10,900FollowersFollow
314FollowersFollow
16,171SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles