जमशेदपुर में कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र का बिल्डिंग धराशायी

author
0 minutes, 0 seconds Read

JAMSHEDPUR: जमशेदपुर के आजाद नगर थाना अंतर्गत एनएच 33

स्थित दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र का बिल्डिंग

धराशायी हो गया. पिछले दिनों बिल्डिंग में दरार और झुकने की खबर के

बाद जिला प्रशासन ने तत्परता दिखाते हुए बिल्डिंग को खाली करवा दिया था.

बिल्डिंग धराशायी – बिल्डिंग को किया गया था सील

साथ ही सुरक्षा के दृष्टिकोण से लोगों को एहतियात बरतने

का निर्देश देकर बिल्डिंग को सील कर दिया गया था.
आपको बताते चलें कि 2 दिन पहले अचानक बिल्डिंग में

दरार आई और बिल्डिंग 4 फीट पीछे झुक गया था.

जैसे ही बिल्डिंग में दरार और झुकने की खबर सामने आने के बाद

अफरातफरी का माहौल बन गया. बिल्डिंग में पढ़ रहे 250 बच्चे भाग खड़े हुए.

प्रशासन ने मामले को संज्ञान में लेते हुए लोगों के सुरक्षा के मद्देनजर पूरे

इलाके में धारा 144 लगा दी जिससे आसपास का कोई भी

व्यक्ति जर्जर बिल्डिंग के संपर्क में ना आ सके.

बिल्डिंग के आस पास पुलिसबलों की भी तैनाती की गई थी.
आख़िरकार जिसका अंदेशा था वही हुआ रात के करीब

12:30 बजे बिल्डिंग ध्वस्त हो गई हालांकि बिल्डिंग के गिरने के बाद

कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. लेकिन कौशल विकास केंद्र के

अन्दर रखे गए सभी डॉक्यूमेंट और अन्दर रखा सभी सामान भी ध्वस्त हो गया है.

विकास प्रशिक्षण केन्द्र का बिल्डिंग धराशायी होने की वजह से ऐसे

कयास लगाया जा रहे हैं कि बिल्डिंग के अन्दर 30 से 40 लाख रुपए के

रखे गए मशीनरी और कंप्यूटर भी बर्बाद हो गए हैं.

कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र का बिल्डिंग पहले इस तरीके से जर्जर होना और फिर धराशायी होना

निश्चित रूप से सवाल खड़ा कर रहा है..गौर करने वाली बात यह है कि इस ऐसे बिल्डिंग का

निर्माण प्रशिक्षण के लिए होता है लेकिन इसका हाल गैरजिम्मेदार तरीके से बनाए गए किसी

भवन के जैसा हो जाता है जो धराशायी हो जाती है.

रिपोर्ट: लाला जबीन

हेमंत सोरेन से ईडी ने 9 घंटे तक की पूछताछ

Similar Posts