यहां ट्रेन की बोगियों में पढ़ते हैं बच्चे, चर्चा का विषय बना ये विद्यालय

यहां ट्रेन की बोगियों में पढ़ते हैं बच्चे, चर्चा का विषय बना ये विद्यालय

जमशेदपुर : झारखंड के एक सरकारी स्कूल के दीवारों पर बना ट्रेन की बोगियों में बच्चे पढ़ते हैं.

जो अब चर्चा का विषय बन गया है. हम बात कर रहे हैं झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के

टांगराईन गांव के टांगराईन उत्क्रमित मध्य विद्यालय की, जहां स्कूल के दीवारों में बच्चों को

मनोरंजन और लोगों को आकर्षित करने के लिए ट्रेन की बोगियां का पेंटिंग किया गया है.

जो आकर्षण का केंद्र और चर्चा का विषय बना हुआ है.

स्कूल के दीवारों को कराया पेंटिंग

वहीं स्कूल के शिक्षक का कहना है कि कोरोना खत्म होने के बाद भी

बच्चे स्कूल बहुत कम आ रहे थे. इसके बाद हमलोगों ने सोचा कि बच्चे स्कूल कैसे आएं.

इस लिए हमलोगों ने नया तरीका निकाला, और स्कूल के दीवारों में

ट्रेन की बोगियों का पेंटिंग कराया, ताकि बच्चे ट्रेन देखने के बहाने स्कूल आएं और पढ़ाई करें.

क्या कहते हैं छात्र

वहीं स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे भी काफी खुश हैं, और पढ़ाई के साथ-साथ मनोरंजन भी कर रहे हैं. बच्चों के बीच भी इस स्कूल को लेकर काफी उत्साह का माहौल है. स्कूल की छात्रा ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि हमारे स्कूल के शिक्षकों ने क्लास रूम की दीवारों पर रेलगाड़ी का डब्बा बनाया है. जो देखने में काफी अच्छा लगता है.

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हमारे स्कूल में स्मार्ट क्लास की भी व्यवस्था की गई है. इससे हम लोगों को पढ़ाई में काफी सहायता मिल रही है. इन सभी चीजों का विस्तार होने से हम लोगों को स्कूल आने में काफी आनंद मिलता है.

क्या कहते हैं शिक्षक

स्कूल के शिक्षक ने बताया कि इसके निर्माण के पीछे हम लोगों की यह सोच थी कि ट्रेन में चढ़कर हमारे बच्चे शिक्षा ग्रहण करेंगे. उन्होंने कहा कि जो विद्यालय और शिक्षा से वंचित थे, वे लोग अब यह कहते हुए आते हैं कि ट्रेन वाले स्कूल में चलो.
इसके निर्माण से हमारे स्कूल को काफी उपलब्धि मिली है. ये सारी सुविधा रहने की वजह से अब बच्चे यहां सुबह नौ बजे आते हैं और शाम के चार बजे ही घर लौटते हैं.

रिपोर्ट: बिपिन मिश्रा

Similar Posts