Seraikela में दो पक्ष भिडे़, यह है मामला…

22Scope News

Seraikela : सरायकेला में आज उस वक्त अफरातफरी का माहौल बन गया जब दो पक्ष अचानक अपने में ही भिड़ गए। यह घटना गम्हरिया प्रखंड के बुरुडीह पंचायत का बताया जा रहा है जहां जमीन को लेकर दो पक्ष आपस में ही भिड़ गए।

ये भी पढ़ें- Jharkhand Politics : पार्टी में गुटबाजी के सवाल पर ये क्या बोल गए शिवराज सिंह चौहान…

जानकारी के लिए बता दें कि झारखंड सरकार ने सरायकेला के गम्हरिया प्रखंड को डिग्री कॉलेज की सौगात दी है. आपको बता दें कि अविभाजित बिहार के समय से क्षेत्र के छात्र- छात्राओं के लिए डिग्री कॉलेज की मांग रही है।

डिग्री कॉलेज की जमीन को लेकर भिड़े दो पक्ष

झारखंड गठन के 23 साल बाद मुख्यमंत्री बनते ही चंपाई सोरेन ने क्षेत्र के युवाओं को डिग्री कॉलेज की सौगात दी। मगर यहां के कुछ ग्रामीण इसके विरोध में उतर गए हैं। बता दें कि गम्हरिया प्रखंड के बुरुडीह पंचायत में डिग्री कॉलेज प्रस्तावित है। इसके लिए जमीन का सीमांकन कार्य चल रहा है, मगर करीब 5 एकड़ जमीन को लेकर ग्रामीणों ने मोर्चा खोल दिया है।

कुछ लोगों का कहना है कि ग्राम सभा की सहमति के बिना हम जमीन नहीं देंगे। जो ग्राम सभा बुलाई गई है वो फर्जी है। इसमें पारंपरिक माझी बाबा अनुपस्थित हैं। जिस जमीन पर विवाद है वह आदिवासी जमीन है। ग्राम सभा वहां होनी चाहिए थी, मगर सरकार उनको बेदखल करना चाहती है।

दोनों तरफ से हुई हाथापाई

इधर रविवार को बुलाए गए ग्राम सभा में दो पक्ष के ग्रामीण आपस में उलझ पड़े। हालात इतने बिगड़े कि दोनों तरफ से हाथापाई शुरू हो गई। एक पक्ष डिग्री कॉलेज बनाने की वकालत कर रहे हैं तो दूसरा पक्ष इसे ग्राम सभा का अपमान बताते हुए विरोध कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें-  Dhanbad : न्यूज़ 22 scope के खबर का असर, अवैध बालू ढुलाई में लगे 3 हाईवा सहित 7 वाहन जब्त, अब आगे…

वहीं मौके पर पहंचे अंचलाधिकारी ने बताया कि जितनी भी जमीन है वह राज्य सरकार की है। एक इंच जमीन भी मूल रैयतों का नहीं लिया जा रहा है। जो विरोध कर रहे हैं उनकी मांग उचित नहीं है। बावजूद इसके उन्हें भरोसा दिलाया गया है कि किसी का भी मकान टूटने नहीं दिया जाएगा।

Share with family and friends: