22 जुलाई से विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला की शुरुआत, तैयारी पूरी

22 जुलाई से विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला की शुरुआत, तैयारी पूरी

सुल्तानगंज : भागलपुर जिले के सुल्तानगंज में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला 22 जुलाई से शुरू हो रहा है। इसको लेकर प्रशासनिक तैयारी भी जोर पकड़ लिया है। अगर हम नमामि गंगे घाट की बात करें तो गंगा के जलस्तर बढ़ने से खतरनाक बना हुआ है। यहां ना तो पत्थर पर जियो बेग लगाया गया है और ना ही बांस की बैरिकेडिंग किया गया है। जिससे की श्रद्धालु जान जोखिम में डालकर गंगा स्नान करने को विवश हैं।

आपको बता दें कि विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला 22 जुलाई से शुरु हो रहा है लेकिन भोले बाबा के भक्त सालों भर बाबा को जलाअर्पण करते हैं। ऐसे में कावड़ियों का एक जत्था मधेपुरा से सुल्तानगंज पहुंचा। जहां जलभर कर देवघर पांव पैदल रवाना हुए। भक्तों ने बताया कि हम पहले इसलिए जा रहे हैं क्योंकि कई मन्नतें है जो मांगनी है। भीड़ में समय नहीं मिल पाता है और कई मन्नतें मांगना छूट जाता है। बाबा भोलेनाथ के प्रति हमारी अटूट श्रद्धा है।

नमामी गंगे घाट पर प्रशासन का चला बुलडोजर

भागलपुर जिले के सुल्तानगंज में श्रावणी मेला के मद्देनजर नमामी गंगे घाट पर प्रशासन का बुलडोजर चला। घाट पर स्थानीय लोगों के द्वारा घाट का अतिक्रमण कर दुकान लगा दिया गया था। जिसे बुधवार को सीओ रवि कुमार और सुल्तानगंज प्रभारी थानाध्यक्ष धिरेन्द्र कुमार के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाया गया। इस दौरान पुलिस बल और रैफ के जवान भारी मात्रा में तैनाती किया गया था। कई दुकानों को बुलडोजर चला कर हटाया गया। वहीं कई दुकानदारों ने थोड़ी देर में खुद हटा लेने की मोहलत मांगी। सीओ रवि कुमार ने बताया कि आगे भी अतिक्रमण हटाने का काम जारी रहेगा।

यह भी पढ़े : विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला की तैयारी को लेकर जिला प्रशासन ने लिया जायजा

यह भी देखें : https://youtube.com/22scope

श्ववेताबंर झा की रिपोर्ट

Share with family and friends: