बीजेपी की नजर में रोजगार का मुद्दा उठाने वाले देशद्रोही- कांग्रेस

0 minutes, 6 seconds Read

10 लाख लोगों को नौकरी देने के एलान पर कांग्रेस ने पीएम मोदी पर कसा तंज

रांची : बीजेपी की नजर में रोजगार का मुद्दा उठाने वाले देशद्रोही डेढ़ साल में दस लाख लोगों को नौकरी देने के पीएमओ के एलान पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने तंज कसा है. प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव एवं डॉ. राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री क्या देश को यह बताएंगे कि दो करोड़ नौकरी प्रतिवर्ष देने का वादा कर सत्ता में आई भाजपा की सरकार क्या वादा पूरा कर पाई. अगर हिसाब जोड़ा जाए तो 8 वर्षों में प्रधानमंत्री को 16 करोड़ नौकरियां दे देनी थी उसका क्या हुआ? उन्होंने कहा कि रोजगार की बात करने वालों को भाजपाई देशद्रोह करार देते हैं.

कांग्रेस नेता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि 2 करोड़ नौकरी और खाते में 15 लाख रुपए जुमलेबाजी थे. केन्द्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ का कोविड आर्थिक पैकेज एवं प्रधानमंत्री केयर फंड का भी हश्र देश ने देख लिया है. डेढ़ वर्ष में यानि लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी का वादा भी देश देखेगा. फिलहाल तो सच यह है कि केंद्र सरकार में 30 लाख पद खाली पड़े हैं जिसे अब तक नहीं भरा जा सका है. जबकि केंद्र की राज्य सरकारों में 60 लाख पद खाली पड़े हैं जो निम्नवत हैंः-

रोजगार का मुद्दा – इन विभाग में हैं सर्वाधिक रिक्तियां

सेन्ट्रल मंत्रालय एवं विभाग- 9,10,153

पब्लिक सेक्टर बैंक- 2,00,000

हेल्थ पर्सनल – 1,68,480

4.आंगनबाड़ी – 1,76,057

सेंट्रल एंड नवोदय विद्यालय – 16,329

प्राइमरी स्कूल स्टेट्स – 8,37,592

सेंट्रल स्कूल – 18,647

आईआईटी, आईआईएम एनआईटी -16,687

अन्य केंद्रीय शैक्षणिक संस्थान 1,662

इंडियन आर्मी – 2,55000

सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स 91,999

स्टेट पुलिस – 5,31,737

सुप्रीम कोर्ट – 4

हाई कोर्ट – 419

जिला सत्र न्यायालय – 4,929

वैकेंसी इन स्टेट्स 30,00,000

टोटल वेकैंसी -62 लाख 29 हजार 625

रोजगार का मुद्दा – सपने दिखाने वाली सरकार ने किया निराश

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता लाल किशोर नाथ शाहदेव ने कहा युवाओं को सपने दिखाने वाली सरकार ने सबसे ज्यादा निराश किया है. पिछले 2 वर्ष के अंदर लगभग 14 करोड़ से अधिक युवाओं ने अपनी नौकरी गंवाई है. जिस तरह से पिछले आठ वर्षों में सरकारी संपत्तियां बेची जा रही हैं. उससे स्पष्ट है कि मात्र 10 लाख युवाओं को रोजगार का वादा भी जुमला ही साबित होगा.

युवाओं के भविष्य पर लगा ग्रहण

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता डॉ राजेश गुप्ता ने कहा बेरोजगारी की असहनीय पीड़ा ने युवाओं के भविष्य को ग्रहण लगा दिया है. भारत सरकार के मातहत लाखों नौकरियां मिला करती थी वो सब पूरी तरह से बंद हो गई हैं. रोजगार की बात करने वालों को भाजपाई देश द्रोह करार देते हैं.

BJP के आरोप पर बोले श्रवण कुमार- जो दिल्ली में हैं वो क्यों नहीं देते रोजगार

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *