दिल्ली सरकार ने वाहनों के प्रदूषण प्रमाणपत्र की फीस बढ़ाई, जानें अब कितनी होगी

प्रदूषण

दिल्ली. दिल्ली सरकार ने गुरुवार को 13 साल बाद प्रदूषण जांच दरों में संशोधन किया। वाहनों के प्रदूषण प्रमाणपत्र की फीस बढ़ा दी है। पेट्रोल, सीएनजी या एलपीजी दोपहिया और तिपहिया वाहनों के लिए संशोधित दरें 80 रुपये निर्धारित की गई हैं, जबकि पेट्रोल, सीएनजी या एलपीजी चार पहिया वाहनों के लिए संशोधित दरें 110 रुपये निर्धारित की गई हैं। वहीं डीजल से चलने वाले वाहनों के लिए प्रदूषण जांच दर ₹140 निर्धारित की गई है।

दिल्ली में प्रदूषण प्रमाणपत्र की फीस बढ़ी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा है कि प्रदूषण जांच सेवाओं की बढ़ती लागत को ध्यान में रखते हुए कीमतों में संशोधन का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा है, “दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन की लंबे समय से लंबित मांगों के जवाब में और प्रदूषण जांच सेवाओं की बढ़ती लागत को ध्यान में रखते हुए, हमने दरों में संशोधन करने का फैसला किया है।”

उन्होंने कहा, “हम दिल्ली की वायु गुणवत्ता बनाए रखने और यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि सभी वाहन आवश्यक प्रदूषण मानकों को पूरा करें।” बता दें कि, गुरुवार को दिल्ली में AQI 185.0 रहा, जो शहर में मध्यम वायु गुणवत्ता का संकेत देता है।

हाल के दिनों में, राष्ट्रीय राजधानी में बारिश और हवा के बाद दिल्ली के AQI में काफी सुधार हुआ है। जून में सात दिनों तक दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 100 से नीचे था और जुलाई में बारिश और हवा के कारण इसमें और सुधार हुआ है। बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी में रुक-रुक कर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई।

सफदरजंग वेधशाला में बुधवार सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे के बीच 10.1 मिमी बारिश दर्ज की गई। इस दौरान पालम में 25.4 मिमी, लोधी रोड पर 5 मिमी और आयानगर में 3.9 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश के कारण कई इलाकों में जलभराव हो गया और सड़कों पर यातायात जाम हो गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुरुवार को दिल्ली में “बहुत हल्की” से “हल्की” बारिश की भविष्यवाणी की है और “पीला अलर्ट” जारी किया है।

Share with family and friends: