गोपाष्टमी के मौके पर गौ सेवा

गोपाल गौशाला सिमडेगा में धूमधाम से मनाया गया गोपाष्टमी

0 minutes, 2 seconds Read

Simdega- गोपाष्टमी के मौके पर गौ सेवा- गोपाष्टमी के मौके पर मंगलवार को गोपाल गोशाला में गौ माता की पूजन की गई. इस मौके पर आचार्य वासुदेव गौतम ने विधि-विधान से पूजन कराई. वही कैलास अग्रवाल सपत्नीक पूजन में शामिल हुए. गो पूजा के बाद उनके द्वारा प्रसाद का वितरण भी किया गया. इस अवसर पर सभी गायों को पकवान एवं पौष्टिक आहार दिया गया. पशुपालकों को भी वस्त्र और रुपये देकर सम्मानित किया गया.

गोपाष्टमी के मौके पर गौ सेवा

इस मौके पर आचार्य वासुदेव गौतम ने कहा कि हिदू धर्म में गाय को पूजनीय माना गया है. गाय की पूजा करने से 33 कोटि देवी देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त हो जाता है. गाय माता की पूजा के लिए गोपाष्टमी पर्व विशेष माना गया है. उन्होंने कहा कि हमें न केवल गोपाष्टमी के मौके पर, अपितु लोगों को हर दिन गाय माता की सेवा करनी चाहिए.

औषधि है गौ माता के दूध

धर्मार्थ समिति गोपाल गोशाला द्वारा यह आयोजन किया जाता है. उन्होंने कहा कि इस आयोजन में सिमडेगा के सभी लोग योगदान देते हैं।उन्होंने कहा कि लोगों को जब भी मौका मिले तो गौ की सेवा करनी चाहिए. एक ग्रास भी देने से गौ माता सबको आशीर्वाद प्रदान करतीं है. कहा,शास्त्रों में कहा गया है कि निस्वार्थ भाव से की गई गौ सेवा से पुण्य व लाभ मिलता है. गौ माता के दूध औषधि है.

कोरोना काल में भी लोगों ने सुरक्षा के लिए शहर से दूर जाकर एकांत में गो की सेवा की है.

जिससे उन्हें बीमारियों से मुक्ति मिली.

उन्होंने कहा कि गौ माता के अंग-अंग में देवी-देवताओं का वास है.

गौ की पूजन से सभी देवी-देवताओं का एक साथ पूजन हो जाता है.

इससे पूर्ण रूप से लाभ मिलता है.

मौके पर समिति के सदस्य सभी उपस्थित रहे,

इस मौके पर प्रसाद का वितरण किया गया.

राजधानी रांची में ‘हादसों की रफ्तार’ में कमी

Similar Posts