Loksabha Election 2024 : बाहुबली सांसद धनंजय सिंह बोले – डरता किसी से नहीं, फिलहाल भाजपा को जौनपुर के दोनों सीटों पर दिया है समर्थन, बाकी बातें बाद में

बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने भाजपा के प्रति नरम रुख दिखाने पर कहा कि हम सियासत में डील नहीं करते। राजनीति में सौदेबाजी का कोई स्थान नहीं है। जहां तक भाजपा के साथ बातचीत की बात है, तो कुछ बातचीत जरूर हुई है और इसके सार्थक परिणाम जल्द दिखेंगे।

वाराणसी/जौनपुर: Loksabha Election 2024 बाहुबली नेता और पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने पूर्वी यूपी यानी पूर्वांचल के साथ ही पूरे प्रदेश की सियासत के लिए अपनी ओर से साफ चुनावी संकेत दे दिया है। कहा है कि डरता तो किसी से नहीं। लोकतंत्र में डरने का सवाल ही नहीं। दबाब में मुझसे कोई कुछ नहीं करवा सकता, हां व्यवहार वाली बात अलग है। चुनाव लोकतंत्र का अहम हिस्सा है और इसमें तटस्थ नहीं रहा जाता। इसीलिए इस बार के लोकसभा के चुनाव में मैं खुद या मेरे अपने परिवार का कोई मेरी ओर से भले मैदान में नहीं है लेकिन मेरा साथ भाजपा को है। जौनपुर की दोनों सीटें भाजपा ही जीतेगी, ऐसा मेरा आकलन है।

अब धनंजय सिंह भाजपा के समर्थन में खुलकर सामने आ गए हैं। पत्नी श्रीकला रेड्डी के गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने के बाद अब धनंजय सिंह ने पत्नी के साथ भाजपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी से भी मुलाकात कर ली है।
यूपी भाजपा अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी से सपत्नीक मिले धनंजय सिंह

धनंजय बोले – शुरू से सपा के खिलाफ और भाजपा के करीब रही है उनकी राजनीति

धनंजय सिंह ने स्वीकार किया कि वह किसी मजबूरी में भाजपा के साथ हैं। अपनी मजबूरी भी बताते हुए पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने कहा कि राजनीति में आप तटस्थ नहीं रह सकते। बीते 25 साल से अपनी राजनीति सपा के खिलाफ रही है। साथ ही अपने पिता संघ से जुड़े हैं और भाजपा का पूरा कैडर उनके साथ है। इसलिए उनका झुकाव स्वाभाविक तौर से भाजपा की ओर है। इस बारे में बाकी सवाल चुनाव के बाद पूछा जाए तो खुलकर बेबाकी से बोलेंगे। उन्होंने कहा भी कि चुनाव बाद आइए, सभी जवाब मिलेंगे।

धनंजय सिंह ने भाजपा को समर्थन करने का ऐलान करने के साथ ही जौनपुर और मछलीशहर सीट भाजपा की झोली में डालने का दावा भी किया है। भाजपा को समर्थन देने के सवाल पर पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने कहा कि आज हम चुनाव से बाहर हैं। मैं जदयू (जेडीयू) का सदस्य हूं और भाजपा की मदद कर रहा हूं।
फाइल फोटो

धनंजय ने भाजपा से डील की बात नकारी, बोले – कुछ बातचीत जरूर हुई है

बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने भाजपा के प्रति नरम रुख दिखाने पर कहा कि हम सियासत में डील नहीं करते। राजनीति में सौदेबाजी का कोई स्थान नहीं है। जहां तक भाजपा के साथ बातचीत की बात है, तो कुछ बातचीत जरूर हुई है और इसके सार्थक परिणाम जल्द दिखेंगे। धनंजय सिंह ने स्वीकार किया कि उनके खिलाफ मुकदमों की लंबी फेहरिस्त है लेकिन इनमें ज्यादातर मुकदमे फर्जी हैं, जो भाजपा के ही एक मंत्री के षड़यंत्र की वजह से उनके ऊपर लादा गया। वहीं कुछ मुकदमे चुनाव संबंधी भी हैं। साथ ही जोड़ा कि जब जनता के सवालों पर लड़ेंगे तो मुकदमे होंगे ही। हालत ही में वह जेल से जमानत पर छूटे हैं। बता दें कि गत दिनों धनंजय सिंह जेल में थे और उनकी पत्नी श्रीकला रेड्डी पहले निर्दलीय चुनाव लड़ने वाली थीं लेकिन उन्हें बसपा से टिकट मिला और उन्होंने नामांकन भी कर दिया। फिर उनका टिकट रद्द हो गया और बसपा की ओर से बयान आया कि श्रीकला ने खुद टिकट लौटा दिया था जबकि श्रीकला रेड्डी ने कहा था कि बसपा ने उनकी जगह दूसरा उम्मीदवार उतार दिया है।

सपा विधायक अभय सिंह को धनंजय ने बताया अपराधी

एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह ने सपा के विधायक अभय सिंह द्वारा उत्तर भारत का सबसे बड़ा डॉन बताए जाने पर कहा कि छोटे आदमी की बात नहीं करते, उसके ऊपर तो खुद 52 मुकदमें हैं। कहा कि ऐसे लोगों की किसी बात का क्या जवाब दिया जाए। आगे कहा कि सपा विधायक अभय सिंह खुद बड़ा अपराधी है। उनके खिलाफ यूनिवर्सिटी में जितने भी मुकदमे हुए, उन सभी में अभय सिंह मुख्य मुल्जिम है। यदि ऐसा अपराधी कोई अर्नगल प्रलाप करे तो उसकी बात पर क्या जवाब दें।

धनंजय सिंह ने रामचरितमानस की चौपाई डालकर नए सियासी संकेत दिए थे। बीते दिनों धनंजय की पत्नी ने अमित शाह से मुलाकात की थी। दोनों ओर स्थिति स्पष्ट की गई है कि अभी सिर्फ मुलाकात हुई है और भाजपा में कोई ज्वाइनिंग नहीं हुई है।
जौनपुर में जनसभा को संबोधित करते धनंजय सिंह

भाजपा के शीर्ष नेताओं से मिले धनंजय और उनकी पत्नी श्रीकला, खुद को बताया जदयू मेंबर

अब धनंजय सिंह भाजपा के समर्थन में खुलकर सामने आ गए हैं। पत्नी श्रीकला रेड्डी के गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करने के बाद अब धनंजय सिंह ने पत्नी के साथ भाजपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी से भी मुलाकात कर ली है। दोनों नेताओं की मुलाकात की तस्वीर भी सामने आ गई है। धनंजय सिंह ने भाजपा को समर्थन करने का ऐलान करने के साथ ही जौनपुर और मछलीशहर सीट भाजपा की झोली में डालने का दावा भी किया है। भाजपा को समर्थन देने के सवाल पर पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने कहा कि आज हम चुनाव से बाहर हैं। मैं जदयू (जेडीयू) का सदस्य हूं और भाजपा की मदद कर रहा हूं। खुलकर कहा कि उनके लोग जौनपुर सीट के साथ ही मछलीशहर सीट पर भी भाजपा के पक्ष में प्रचार में जुट गए हैं। धनंजय सिंह एनडीए का हिस्सा नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव हैं। हाल ही में धनंजय सिंह ने रामचरितमानस की चौपाई डालकर नए सियासी संकेत दिए थे। बीते दिनों धनंजय की पत्नी ने अमित शाह से मुलाकात की थी। दोनों ओर स्थिति स्पष्ट की गई है कि अभी सिर्फ मुलाकात हुई है और भाजपा में कोई ज्वाइनिंग नहीं हुई है।