उद्योग मंत्री समीर सेठ के ठिकानों पर छापेमारी के बाद राजनीति तेज

author
0 minutes, 0 seconds Read

PATNA: उद्योग मंत्री समीर सेठ के ठिकानों पर छापेमारी के बाद

बिहार की राजनीति गरमाई है. एक और जहाँ jdu और rjd ने

इसका विरोध किया है वहीँ दूसरी और बीजेपी ने इस कार्रवाई

को सही ठहराया है. आय से अधिक संपत्ति मामले में आईटी की छापेमारी का महागठबंधन

ने विरोध जताया है. जदयू ने लगातार जांच एजेंसियों की छापेमारी पर सवाल उठाए हैं.

जदयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने इनकम टैक्स की छापेमारी पर

कहा कि केंद्रीय एजेंसियों का बीजेपी द्वारा दुरुपयोग किया जाता है.

यह कोई नई बात नहीं है. इतने पहले भी कई छापे हुए लेकिन कुछ भी हाथ नहीं लगा.

बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष को डराने के लिए ऐसे हथकंडे अपनाती है. लेकिन विपक्ष अब डरने वाला नहीं है और आने वाले समय में जनता जवाब देगी.

बीजेपी नेताओं के घर नहीं होती छापेमारीः आरजेडी

छापेमारी पर राजद के प्रवक्ता शक्तिसिंह यादव ने कहा कि

इसमें आश्चर्य करने वाली कोई बात नहीं है. भाजपा से रिश्ता रखने वालों के यहां छापा नहीं पड़ता है जो विपक्ष में खड़े हैं उनके यहां छापा पड़ता है. सीबीआई, ईडी और इनकम टैक्स का अब विपक्ष के साथ नाता सा हो गया है. किसी भी बीजेपी नेताओं के घर छापेमारी नहीं होती है.

बीजेपी ने आरोपों को किया खारिज

बीजेपी प्रवक्ता अरविंद सिंह ने कहा कि जब भी छापेमारी होती है तो यह आरोप लगाया जाता है कि बीजेपी के कहने पर छापे पड़ रहे हैं. उन्होंने ऐसे आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि आम जनता की गाढ़ी कमाई का टैक्स चोरी करते हैं और बीजेपी पर आरोप लगाते हैं. टैक्स के पैसे चोरी कर अपना फायदा करते हैं जो आम जनता टैक्स देती है जिससे सड़के बनती हैं विकास का काम होता है इस टैक्स की चोरी से सब कामों में अवरोध उत्पन्न होते हैं. उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स के छापे के बाद सबकुछ साफ हो जाएगा.

रिपोर्ट: प्रणव/राजीव

पटना विवि छात्रसंघ के चुनाव प्रचार का आज थम जाएगा शोर

Similar Posts