38.4 C
Jharkhand
Thursday, April 18, 2024

Live TV

सरकारी खाता से 21.81 लाख रुपये गलत ढंग से निकाले

रांची: स्वास्थ्य विभाग के आइसीआइसीआइ बैंक के सरकारी खाता से अवैध तरीके से लाखों रुपये का ट्रांजेक्शन करने के मामले का खुलासा दुमका  में हुआ है.

पहली नजर में करीब 21.81 लाख रुपये गलत ढंग से ट्रांजेक्शन कर खाते से उड़ा लिये गये हैं. हालांकि, जांच जारी है और यह राशि इससे ज्यादा भी हो सकती है.

इस गड़बड़ी के उजागर होने के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामगढ़ (दुमका) के कार्यालय प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी आइसीआइसीआइ बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक को पत्र लिखकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामगढ़ के एसएनए खाता संख्या – 063001001055 से अवैध लेन-देन के संबंध में शिकायत दर्ज करायी है.

पांच फरवरी को जब एकाउंट की जांच की जा रही थी, तो कुछ संदिग्ध ट्रांजेक्शन नजर आये. इसकी जब पूरी पड़ताल की गयी, तो सरकारी खाते में अनाधिकृत लेन-देन के व्यवहार की बात सामने आयी.

इसके बाद इस पूरे मामले की जांच और शिकायत के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक और निदेशक वित्त को फौरन इसकी जानकारी दी गयी.

जब आइसीआइसीआइ के पदाधिकारियों से संपर्क साधा गया, तो दूसरी तरफ से अधिकारी स्पष्ट तौर पर कुछ भी बताने से इंकार कर रहे हैं.

इस मामले के संज्ञान में आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से आइसीआइसीआइ बैंक, शाखा दुमका के डीबीएम पंकज को फोन कर फौरन जानकारी दी गयी कि खाते से अवैध लेन-देन हो रहा है.

हालांकि, उस वक्त उनके द्वारा जानकारी उपलब्ध कराने में असर्मथता जतायी गयी और एसएनए से संबंधित आइसीआइसीआइ बैंक के प्रतिनिधि से संपर्क करने को कहा गया.

बाद में इसकी शिकायत बैंक से संबंधित अधिकारी मुकेश कुमार से की गयी. सरकारी खाते से राशि की अवैध निकासी की जानकारी सामने आने के बाद उक्त खाते का जनवरी 2024 से 05 फरवरी 2024 तक का बैंक स्टेटमेंट डाउनलोड किया गया.

इससे यह पता चला कि 29 जनवरी को 1,80650 रुपये और 11,09,149 रुपये (कुल राशि 13,19,799 रु) क्रेडिट (निकाला) किया गया है.

उसी दिन कुल 164 बार में इसे अलग-अलग एकाउंट में डेबिट (जमा) भी किया. पांच फरवरी को दोबारा निकाले गये 8.61 लाख रुपये पांच फरवरी को खाते में दोबारा सेंधमारी की गयी.

इस दिन 90,050 रुपये, 1,33,223 रुपये और 6,38,145 रुपये (कुल राशि 8,61,418 रुपये) फिर से क्रेडिट किया गया.

उस दिन ठीक उसी तरह कुल 155 बार में अलग-अलग खाते में राशि डेबिट की गयी. इस तरह कुल 319 बार में जालसाजों ने 21,81,217 लाख रुपये अवैध तरीके से निकाल लिये.

Related Articles

Stay Connected

115,555FansLike
10,900FollowersFollow
314FollowersFollow
16,171SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles