जहर खा कर सामूहिक आत्महत्या

साहूकारी की मार, एक साथ घर से उठी पांच सदस्यों की लाश

Nawada-जहर खा कर सामूहिक आत्महत्या में अपनी जान गंवाने वाले एक ही परिवार से पांच सदस्यों की चिता आज उठी, घर के एकलौते चिराग अमित गुप्ता ने अपने माता पिता, भाई और तीन-तीन बहनों को एक साथ मुखाग्नि दी. एक साथ एक ही परिवार के पांच सदस्यों को चिता देख कर पड़ोसियों की आखें नम हो गयी.

जहर खा कर सामूहिक आत्महत्या, एकलौते चिराग ने दी सबों को मुखाग्नि

यहां बता दें कि केदार लाल गुप्ता ने साहूकारों से उच्ची दर दर काफी रकम उठा लिया था, साहूकारों के द्वारा बार-बार सूद की मांग की जा रही थी, जबकि केदार लाल गुप्ता का परिवार इस सूद को देने की स्थिति में नहीं था, बताया जाता है कि पूरा परिवार इससे परेशान था, इसी मानसिक प्रताड़ना से तंग आकर केदार नाथ गुप्ता, उनकी पत्नी अनिता देवी, पुत्र धुर्व गुप्ता उर्फ प्रिंस, बेटियां साक्षी, गुड़िया और शबनम ने बुधवार की रात घर से बाहर शोभ कृषि फार्म इलाके में जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी. दो की मौत घटना स्थल पर ही हो गई थी. जबकि शेष चार की मौत इलाज के दौरान हुई थी.

अमित घर से बाहर रहता था, हादसे की खबर पाकर घर लौटा

अमित गुप्ता बाहर रहता था, इस हृदयविदारक घटनाा की खबर मिलने के बाद वह लौटा है, उसके द्वारा ही अपने परिजनों को मुखाग्नि दी गयी. पुलिस की शुरआती जांच में यह बात सामने आई कि मृतक केदार लाल कई लोगों से सूद ब्याज पर काफी पैसा ले रखे थे, 10-12 लाख रुपए कर्ज था. रोज तकादा और झंझट से मुक्ति पाने के लिए ऐसा कदम उठाया.

मृतक केदार लाल का एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें इस बात का जिक्र है कि

उस पर महाजनों के द्वारा पैसे की वापसी का दबाव था,

सुसाइड नोट के अनुसार मृतक केदार लाल ने मनीष सिंह, विकास सिंह,

विजय सिंह, डॉक्टर पंकज सिन्हा, टुनटुन सिंह खटाल संचालक और

गढ़पर के रंजीत सिंह से काफी उच्चे ब्याज दर पर पैसा लिया था.

फिलहाल पुलिस इन सभी को थाने बुलाकर पूछ ताछ कर रही है.

एक व्यक्ति टुनटुन सिंह को हिरासत में लिया गया है.

Similar Posts