22 C
Jharkhand
Thursday, February 22, 2024

Live TV

भूमि सुधार मंत्री के 10 % वाले बयान पर भड़के विजय सिन्हा

सवर्णों का अपमान करने वालों के साथ नीतीश कुमार ने बना ली है सरकार- विजय सिन्हा

भूमि सुधार मंत्री

PATNA: विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने भूमि सुधार एवं राजस्व मंत्री आलोक मेहता के सवर्णों को अंग्रेजों का दलाल बताने वाले बयान पर नाराजगी जताई है. उन्होंने आरजेडी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह पार्टी हमेशा से ही सवर्णों को अपमानित करने का काम करती है. पहले शिक्षामंत्री चंद्रशेखर सिंह ने रामचरित मानस के बारे में विवादित टिप्पणी की फिर भूमि राजस्व मंत्री आलोक मेहता ने सवर्णों को अपमानित करने का काम किया है. उन्होंने कहा कि पहले भी लालू यादव ने भूरा बाल साफ करो का नारा दिया था, आरजेडी ने पहले भी बिहार में जाति विद्वेष फैलाने का काम किया है. अब फिर से इनके मंत्री वैसे ही भड़काउ बयासन दे रहे हैं.

जंगलराज के पुरोधाओं के साथ रातोंरात सरकार बना लियाः विजय सिन्हा


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एक बार फिर मुख्यमंत्रीजी

बिहार और बिहारियों का सम्मान बढ़ाना आपकी इच्छा रही है.

लेकिन अपहरण-लूट-डकैती करने वाले जंगल राज के

पुरोधाओं के साथ मिलकर रातों-रात सरकार बना लिया.

आरजेडी पर हमला बोलते हुए कहा है कि नेचर और सिग्नेचर नहीं बदलता.

पहले लालू यादव सवर्णों के खिलाफ लोगों को भड़काते थे और जातीय उन्माद फैलाने का काम करते थे, जिसे तेजस्वी यादव ने कुछ सुधार किया और आरजेडी को ए टू जेड की पार्टी बताया है. लेकिन कुछ ही महीनों में ही असर अब दिखने लगा है और यह परिलक्षित भी हो रहा है. सामाजिक विद्वेष फैलाने वाले अब फिर से अपने एजेंडा पर आ गये हैं. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि नरसंहार कराने वाले सामाजिक विद्वेष की बात कर भाषाई और जातीय उन्माद फैलाने लगे हैं.


मुख्यमंत्री को दिलाई पुराने संघर्षों की याद


विजस सिन्हा ने नीतीश कुमार को पुराने संघर्ष के दिनों को याद दिलाते हुए कहा कि आपकी इच्छा हमेशा से ही बिहार और बिहारियों को सम्मान दिलाने की थी लेकिन आप इनकी संगत में बिहार को कहां ले कर जा रहे हैं. समाज को बांटने वालों ने बिहार को कहां पहुंचा दिया था. जंगलराज के खिलाफ कैसे संघर्ष किया वह भी याद दिलाया.

रिपोर्ट: प्रणव राज

Related Articles

Stay Connected

113,000FansLike
10,900FollowersFollow
314FollowersFollow
154,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles