Bihar Jharkhand News
Bihar Jharkhand Latest News | Live TV

दुनिया छोड़ने से पहले क्यों लिखा- नसीम और मौलाना को याद रखना

दुनिया छोड़ने से पहले क्यों लिखा- नसीम और मौलाना को याद रखना

0 minutes, 0 seconds Read

आत्महत्या मामले पर पुलिस कर रही जांच

नसीम पर लगा इस्लाम धर्म अपनाने का जोर देने का आरोप

रांची : दुनिया छोड़ने- राजधानी रांची के सुखदेव नगर इलाके में किराए के मकान में रहकर एमबीए की पढ़ाई करनेवाले दीपक कुमार सिंह ने मंगलवार देर रात जहर खाकर और फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी. वही मौत से पहले दीपक ने अपने व्हाट्सएप्प स्टेटस पर लिखा था ‘‘अलविदा दोस्तों नसीम और मौलाना को याद रखना.’’ उसके छोटे भाई का आरोप है कि ये बात दीपक ने सिर्फ इस वजह से लिखी क्योंकि उसे उसका प्यार दिलाने के नाम पर मौलाना और उसके बचपन के दोस्त नसीम ने न सिर्फ ठगा बल्कि उसे इस्लाम धर्म अपनाने का दबाव भी बनाया था.

दुनिया छोड़ने: किराए के मकान में रहकर पढ़ाई करता था दीपक

रांची के एक और एमबीए के छात्र दीपक कुमार ने आत्महत्या कर ली. दीपक ने पहले जहर खाया और फिर फंदे से झूल आत्महत्या कर ली. छात्र दीपक सुखदेव नगर थाना क्षेत्र में किराए के मकान में रह पढ़ाई किया करता था. हालांकि मूल रूप से वो बुढ़मू इलाके के उमेदंडा का रहनेवाला था. घटना से घर में मातम है.

जादू टोना के नाम पर दीपक को ठगा

बता दें कि दीपक का एक युवती के साथ संबंध था, लेकिन युवती ने दीपक से अपना संबंध तोड़ लिया. जिस कारण दीपक उसे पाने के चक्कर में पहले एक मिहिर अधिकारी नामक व्यक्ति से मिला. जिसने उसे जादू टोना के नाम पर पहले ठगा और बंगाल भी ले गया. इस दौरान कई तरह के टोटके कराए, जिसके बाद दीपक और भी ज्यादा परेशान हो गया.

दुनिया छोड़ने: क्या है पूरी कहानी

दीपक ने अपनी आपबीती अपने दोस्त नसीम को बताई, तो नसीम उसे एक मौलाना के पास ले गया. और उसके पैसे भी नसीम और मौलाना ने ऐंठे और धर्मंनातरण का दबाव बनाने लगा, और कहा कि तब जाकर लड़की उसे मिल जायेगी. दीपक ने अपने एक दोस्त को बताया की इस्लाम काफी अच्छा धर्म है. वही दीपक के भाई सूरज ने बताया कि मेरे भाई ने कुछ दिनों तक सूरमा भी लगाया था. दीपक के भाई सूरज ने बताया कि दीपक का एक बार अरशद नामक युवक से धर्म को लेकर ही सोशल मीडिया पर विवाद हुआ था और शायद इसी बात का बदला नसीम ने दीपक से लिया.

रिपोर्ट: मुर्शीद आलम

Similar Posts