1932 के खतियान को भाजपा पचा नहीं पा रही

धनबाद में जश्न, एक दूसरे का मुंह मीठा करा दी जा रही 1932 की बधाई

Dhanbad-1932 खतियान को भाजपा पचा नहीं पा रही,1932 का खतियान आधारित स्थानीय नीति को झारखंड विधानसभा ने ध्वनिमत से पारित कर दिया. जिसके बाद रणधीर वर्मा चौक पर झामुमो नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा. नेताओं कार्यकर्ताओं के द्वारा जबरदस्त आतिशबाजी की गई, एक दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी गई. इस मौके पर झामुमो कार्यकर्ताओं के साथ ही बड़ी संख्या में आम लोगों की भी भागीदारी रही.

1932 के खतियान को भाजपा पचा नहीं पा रही

इस अवसर पर झामुमो जिला अध्यक्ष रमेश टूडू ने कहा कि 1932 का खतियान झारखंड की जनभावनाओं का सम्मान है. लेकिन झारखंडियों की इस जनभावना को भाजपा पचा पा नहीं रही है. रमेश टूडू ने कहा कि भाजपा के द्वारा स्थानीयता की तिथी 1985 को लागू किया गया था.लेकिन हम झारखंडियों की मांग 1932 की ही थी. गांव गांव से 1932 की आवाज उठ रही थी. आज यह आन्दोलन सफल हो गया. हमारी वर्षों पुरानी मांग पुरी हो गयी.

क्या मांझी जी पीते हैं पउवा? अब मांझी जी का पउवा पर बवाल

Similar Posts