प्रशांत किशोर को 6 मुख्यमंत्री कर रहे ‘फंडिंग’

प्रशांत किशोर को 6 मुख्यमंत्री कर रहे ‘फंडिंग’, बीजेपी ने पीके को बताया एजेंट

0 minutes, 0 seconds Read

संजय जायसवाल ने नीतीश कुमार और प्रशांत किशोर पर साधा निशाना

पटना : प्रशांत किशोर ने 6 मुख्यमंत्रियों से मदद मिलने की बात स्वीकार की है.

इस पर भाजपा की प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने हमला बोलते हुए कहा कि

प्रशांत किशोर ने कहा है कि विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री जन सुराज अभियान में मेरी मदद कर रहे हैं.

इससे साफ है कि नीतीश कुमार भी प्रशांत किशोर को मदद कर रहे हैं.

मतलब ये दोनों रात में बात करते हैं कि कैसे भाजपा की वोट बैंक को कम किया जाए.

मतलब यह साफ हो चला है कि प्रशांत किशोर नीतीश कुमार के एजेंट हैं,

लेकिन एक वर्ग आने वाले चुनाव में भाजपा को बड़ी बहुमत से जीताएगी.

6 मुख्यमंत्रियों से मदद: खुद पीके ने बताया कैसे पूरा हो रहा उनका ‘मिशन’

बता दें कि जन सुराज यात्रा पर निकले प्रशांत किशोर लगातार ऐसे बयान दे रहे हैं कि

बिहार के सियासी गलियारे में खूब चर्चा हो रही है. पिछले 25 दिनों से प्रशांत किशोर जन सुराज यात्रा पर हैं. दो अक्टूबर को बेतिया के भितिहरवा से प्रशांत किशोर ने इस यात्रा की शुरुआत की थी. वे सभी पंचायतों का भ्रमण कर रहे हैं. इस यात्रा में जो खर्च हो रहा है वह पैसा कौन दे रहा है इसका खुलासा प्रशांत किशोर ने बुधवार को किया है. उन्होंने खुद ही बताया है कि कैसे उनका मिशन पूरा हो रहा है. पीके ने कहा कि देश के छह राज्यों के मुख्यमंत्री उनको जन सुराज यात्रा में मदद कर रहे हैं.

छह राज्यों के मुख्यमंत्री कर रहे हैं मदद- प्रशांत किशोर

प्रशांत किशोर ने कहा कि वो कोई बड़ा मंच, बड़ी रैली या हेलीकॉप्टर में खर्च नहीं कर रहे हैं लेकिन जिस सिस्टम से वो चल रहे है उसमें भी कुछ खर्च हो रहे हैं. उसके लिए देश के छह राज्यों के मुख्यमंत्री जिन्हें उन्होंने जिताया था वह मदद कर रहे हैं. प्रशांत किशोर ने कहा कि यह पैसा सरस्वती मां की देन है. वो 10 सालों से काम कर रहे हैं. इस दौरान 11 चुनाव में उन्होंने काम किया है. छह ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिनके लिए उन्होंने काम किया और उनके सहयोग से वह मुख्यमंत्री बन गए.

6 मुख्यमंत्रियों से मदद: कभी किसी से पैसा नहीं मांगा- पीके

पीके ने कहा कि उन्होंने कभी किसी से पैसा नहीं मांगा. आज जब वो बिहार में जन सुराज यात्रा पर निकले हैं तो वो उन छह मुख्यमंत्रियों से कह रहे हैं कि मदद की जाए. बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए भी प्रशांत किशोर ने काम किया था. महागठबंधन की सरकार बनी थी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बने थे.

रिपोर्ट: राजीव कमल

पंचायती राज मंत्री के खिलाफ वार्ड सदस्यों का धरना प्रदर्शन

Similar Posts