Bihar Jharkhand News
Bihar Jharkhand Latest News | Live TV

प्रेमी ने की बेवफाई, तो धरने पर बैठ गयी प्रेमिका, फिर...

प्रेमी ने की बेवफाई, तो धरने पर बैठ गयी प्रेमिका, फिर…

0 minutes, 0 seconds Read

72 घंटे तक धरने पर बैठी प्रेमी-प्रेमिका की ग्रामीणों के हस्तक्षेप से हुई शादी

4 वर्ष से चल रहा था प्रेम प्रसंग

धनबाद : जिले में 72 घंटे से प्रेमी के घर के दरवाजे पर धरना पर बैठी प्रेमिका (निशा) की ग्रामीणों ने पुलिस के सहयोग के बाद उसके प्रेमी (उत्तम) से शादी करा दी. इससे पूर्व राजगंज के रहने वाले प्रेमी व ईस्ट बसूरिया की प्रेमिका के बीच पिछले 4 वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था. इसी बीच प्रेमी ने शादी न करने की बात कही थी, तो युवती उसके घर के दरवाजे पर 72 घंटे से कड़ाके की ठंड में बाहर धरने पर बैठ गई थी.

प्रेमी: शादी के 20 दिन पहले ही उत्तम ने कर दिया था इंकार

बताया जाता है कि वह धनबाद में एसएसएलएनटी महिला कॉलेज में पढ़ती थी, तभी उत्तम के संपर्क में आ गई थी. इस बात की जानकारी दोनों के परिवार वालों को भी थी. उसने उससे शादी का वादा किया था. दोनों एक-दूसरे के परिजनों के घर भी एक साथ कई बार गये.

दोनों परिवारों के बीच शादी पर सहमति भी बन गई थी और इसकी तारीख भी तय हो गई. लेकिन तय तारीख से 20 दिन पहले ही उत्तम ने शादी से इनकार कर दिया. जब युवती को कोई रास्ता नहीं दिखा तो वह अपनी दादी और अन्य रिश्तेदारों के साथ अपने प्रेमी के गांव महेशपुर पहुंची और युवक के घर के बाहर बैठ गई. इसके बाद उत्तम फरार हो गया और उसके घर वालों ने घर का दरवाजा बंद कर लिया.

महिला पुलिस ने युवती को जबरन उठाकर ले गई थी थाना

युवती की जिद थी कि उत्तम से कम से कम एक बार उसकी बात कराई जाए. स्थानीय मुखिया सहित कई लोगों ने युवती को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह अपनी मांग पर अड़ी रहीं. गांववालों ने उसे कंबल, सहित कई सामान भी दिए थे. मुखिया ने इसकी सूचना राजगंज पुलिस को दी. इसके बाद गुरुवार देर रात महिला पुलिस ने उसे जबरन उठाकर थाना ले गई. बाद में उसे उसके परिजनों के साथ भेज दिया.

पिता के बयान पर पुलिस ने की कार्रवाई

इसके बाद पिता के बयान पर पुलिस ने उसके प्रेमी महेशपुर गांव निवासी उत्तम महतो के खिलाफ यौन शोषण की शिकायत दर्ज की, लेकिन युवती का कहना है कि वह नहीं चाहती कि उसका प्रेमी जेल जाए. वह तो उससे शादी करना चाहती है.

मंगलवार से धरने पर बैठी थी युवती

बता दें कि प्रेमी की बेवफाई से आहत युवती उसके घर के आगे बीते मंगलवार से धरने पर बैठी थी. कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे बैठी इस लड़की को मनाने के लिए मुहल्ले के लोग तो आगे आए, लेकिन वह अपनी जिद पर अड़ी रहीं. लड़की के धरना पर बैठने की खबर मिलते ही उसका प्रेमी फरार हो गया था.

प्रेमी व प्रेमिका की हुई शादी

72 घंटे धरने के बाद रविवार दोपहर को प्रेमी व प्रेमिका दोनों की शादी राजगंज के गंगापुर लिलोरी मंदिर में दोनों के परिजन व ग्रामीणों के सहयोग से हुई. वहीं लड़की निशा व लड़का उत्तम ने कहा कि परिजन व ग्रामीण के सहयोग से शादी हुई. अच्छा लग रहा है और शादी से हमदोनों खुश हैं.

रिपोर्ट: राजकुमार जायसवाल

Similar Posts