Bihar Jharkhand News
Bihar Jharkhand Latest News | Live TV

विशेष सत्र बुलाकर बनाई जाएगी नियोजन नीति- बंधु तिर्की

विशेष सत्र बुलाकर बनाई जाएगी नियोजन नीति- बंधु तिर्की

रांची : विशेष सत्र- कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मंत्री बंधु तिर्की का बड़ा बयान आया है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार रोजगार को लेकर लगातार प्रयत्नशील है. नियोजन नीति के सवाल पर बंधु तिर्की ने कहा कि नई नियोजन नीति जल्द बनेगी. अगर जरूरत पड़ी तो विशेष सत्र बुलाकर भी नियोजन नीति बनाई जाएगी. पूर्व मंत्री बंधु तिर्की ने कहा कि पंचायत सचिव अभ्यर्थियों के रिजल्ट आने से युवाओं में ऊर्जा भरने का काम करेगी. यह सरकार के लिए बड़ी उपलब्धि है.

विशेष सत्र: कांग्रेस जल्द उम्मीदवार की करेगी घोषणा- बंधु तिर्की

वहीं रामगढ़ उपचुनाव के सवाल पर बंधु तिर्की ने कहा कि इसके लिए कांग्रेस पूरी तरह से तैयार है. पूर्व विधायक ममता देवी ने रामगढ़ की जनता की सेवा की है. हालांकि बीच में ही चुनाव होने से रामगढ़ के विकास के काम जरूर अवरुद्ध हुए हैं. लेकिन वहां की जनता फिर से एक बार कांग्रेस को अपना आशीर्वाद देगी. उन्होंने कहा कि रामगढ़ उपचुनाव के लिए कांग्रेस जल्द ही उम्मीदवार की भी घोषणा करेगी. हालांकि इस उपचुनाव का बहुत ही मायने है. 2024 के चुनाव से पहले यह चुनाव सभी के लिए महत्वपूर्ण है.

31 जनवरी को जारी होगी अधिसूचना

रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव के लिए 31 जनवरी को अधिसूचना जारी होगी और इसी के साथ चुनाव के लिए नामांकन भी शुरू हो जाएगा. नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख सात फरवरी निर्धारित की गई है. दाखिल नामांकन पत्रों की जांच आठ फरवरी को होगी और 10 फरवरी तक नामांकन वापस लिए जाएंगे. रामगढ़ विधानसभा उप चुनाव के लिए  27 फरवरी को मतदान होगा. मतगणना दो मार्च को निर्धारित की गई है.

मौत मामले में सजा होने के बाद ममता देवी की चली गई थी सदस्यता

बता दें कि रामगढ़ के आईपीएल फैक्ट्री में 2016 में विस्थापितों ने 16 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन किया था जिसका तत्कालीन जिलापरिषद सदस्य ममता देवी ने नेतृत्व किया था. महीने भर चला यह आंदोलन एक समय उग्र रूप धारण कर लिया था जिससे पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े थे और आत्मरक्षा में गोली चलानी पड़ी थी. इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी जबकि कई घायल हो गए थे. 

इस आंदोलन ने ममता देवी को जनता ने विधायक तो बना दिया लेकिन कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए ममता देवी को दोषी पाया. कोर्ट ने ममता देवी पर दस हजार का जुर्माना लगाते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी.

रिपोर्ट: मदन सिंह

Similar Posts