अडाणी पावर प्लांट

जनप्रतिनिधियों को जनता का प्रतिनिधि होना चाहिए, कंपनी का नहीं

0 minutes, 0 seconds Read

Godda-अडाणी पावर प्लांट-हेमंत सरकार के द्वारा निजी क्षेत्र की कंपनियों में 75 फीसदी स्थानीय लोगों को रोजगार देने की घोषणा के बाद अब भाजपा सासंद निशिकांत दुबे ने कहा है कि भाजपा तो सौ फीसदी स्थानीय लोगों को रोजगार देने के पक्ष में है. निशिकांत दुबे ने कहा है कि अडाणी पावर प्लांट में कुल 800 लोगों को रोजगार मिलने जा रहा है और यह सभी स्थानीय युवक होंगे. भाजपा सौ फीसदी रोजगार स्थानीय युवाओं को देने की पक्षधर है.

रोजगार संबंधी सारे विवरण सामने लाये अडाणी प्लांट, सब कुछ साफ हो जायेगा

वैसे कांग्रेस विधायक दीपिका पांडे सिंह ने इस पर पलटवार करते हुए लिखा कि अडाणी प्लांट और इसके एसिलरी कंपनियों में कम से कम 10 हजार नौकरियां उत्पन्न होगी. अडाणी पावर प्लांट, गोड्डा को अपने हर कर्मचारी का ब्योरा देना चाहिए, ताकि यह पत्ता चल सके कि यह नौकरियां किन किन को दी गयी.

उसके बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा.

काश देश के प्रधानमंत्री ने अपना वादा पूरा किया होता.

हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार दिया होता,

तो आज देश में इतनी बेरोज़गारी नहीं होती.

वैसे जन प्रतिनिधियों को जनता का प्रतिनिधित्व करना चाहिए,

प्राइवेट कंपनी की नहीं. खैर बाहरी की बात सांसद महोदय नहीं ही करें तो बेहतर होगा.

अंग्रेजों भारत छोड़ो के समान प्रभावकारी है राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा

तीन महीने में एक लाख नौकरियां, भाजपा अपना हिसाब सामने रखे- तेजस्वी


Similar Posts