धरती आबा की जयंती आज, बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह संग्रहालय का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

राज्यपाल रमेश बैस और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बिरसा मुंडा को किया माल्यार्पण

देश मना रहा जनजातीय गौरव दिवस

रांची : स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा की जयंती आज झारखंड में मनाई जा रही है. हाल ही में केंद्र सरकार ने भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के तौर पर मनाने की घोषणा की है. इस कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल रमेश बैस, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सहित कई दिग्गज नेताओं ने धरती आबा को नमन किया.

जीवन के कालखंड में भगवान बिरसा मुंडा ने पूरा इतिहास लिखा- पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिरसा मुंडा की जयंती के मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रांची में भगवान बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय का उद्घाटन किया. इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि 15 नवंबर की ये तारीख, धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की जन्मजयंती, झारखंड के स्थापना दिवस और देश की आजादी के अमृत महोत्सव का कालखंड है. ये अवसर हमारी राष्ट्रीय आस्था का अवसर है, भारत की पुरातन आदिवासी संस्कृति के गौरवगान का अवसर है. उन्होंने कहा कि आज़ादी के इस अमृतकाल में देश ने तय किया है कि भारत की जनजातीय परम्पराओं को, इसकी शौर्य गाथाओं को देश अब और भी भव्य पहचान देगा. आज से हर वर्ष देश 15 नवम्बर यानी भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस को ‘जन-जातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज के ही दिन हमारे श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी की दृढ़ इच्छाशक्ति के कारण झारखण्ड राज्य भी अस्तित्व में आया था. ये अटल जी ही थे जिन्होंने देश की सरकार में सबसे पहले अलग आदिवासी मंत्रालय का गठन कर आदिवासी हितों को देश की नीतियों से जोड़ा था. आज इस महत्वपूर्ण अवसर पर देश का पहला जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय देशवासियों के लिए समर्पित हो रहा है. भारत की पहचान और भारत की आजादी के लिए लड़ते हुए भगवान बिरसा मुंडा ने अपने आखिरी दिन रांची की इसी जेल में बिताए थे. उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय के लिए पूरे देश के जनजातीय समाज, भारत के प्रत्येक नागरिक को बधाई देता हूं. ये संग्रहालय, स्वाधीनता संग्राम में आदिवासी नायक-नायिकाओं के योगदान का, विविधताओं से भरी हमारी आदिवासी संस्कृति का जीवंत अधिष्ठान बनेगा.

इससे पहले राज्यपाल रमेश बैस और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन धरती आबा बिरसा मुंडा के समाधि स्थल पर पहुंचे और उन्हें माल्यार्पण कर नमन किया. उसके बाद राज्यपाल रमेश बैस और सीएम हेमंत सोरेन पुराना जेल परिसर स्थित भगवान बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय पहुंचे. इस दौरान केंद्रीय मंत्री अर्जून मुंडा, जी किशन रेड्डी, राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश, सांसद संजय सेठ, मंत्री चंपई सोरेन, मेयर आशा लकड़ा, विधायक सीपी सिंह सहित कई नेता उपस्थित रहे. संग्रहालय का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया.

PM मोदी के बयान पर अखिलेश का वार- कहीं ये असंसदीय शब्द तो नहीं

राज्यवासियों को 10 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात आज

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *