Bihar Jharkhand News
Bihar Jharkhand Latest News | Live TV

नोटिस के बाद फिर सुधाकर सिंह ने नीतीश कुमार पर किया हमला

नोटिस के बाद फिर सुधाकर सिंह ने नीतीश कुमार पर किया हमला

0 minutes, 0 seconds Read

राजद विधायक ने सीएम नीतीश कुमार को बताया छोटे कद वाला नेता

17 सालों में नीतीश कुमार चार बार छोड़ा कुर्सी, लेकिन नहीं बदला व्यक्ति

आरा : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ पूर्व कृषि मंत्री व राजद विधायक सुधाकर सिंह का बयानबाजी कम नहीं हो रहा है. जबकि पार्टी के ओर से नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी को लेकर नोटिस थमाकर 15 दिनों में जवाब मांगा है. लेकिन उनपर इस नोटिस का कोई असर नहीं हुआ है. उन्होंने एक बार फिर सीएम नीतीश पर बड़ा हमला किया है. सुधाकर सिंह ने आरा के शाहाबाद में शौर्य दिवस के कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार को छोटे कद वाला नेता बताया.

शौर्य दिवस कार्यक्रम में सुधाकर सिंह ने नीतीश सरकार पर किया हमला

दरअसल महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि के पर शौर्य दिवस कार्यक्रम आयोजित किया गया. कार्यक्रम में पूर्व कृषि मंत्री और राजद विधायक सुधाकर सिंह सहित कई अन्य लोग पहुंचे. शौर्य दिवस के मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए सुधाकर सिंह ने एक बार फिर किसानों की हालत और कृषि समस्याओं पर चिंता जाहिर की, और नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोला.

विशेष राज्य के नाम पर कटोरा लेकर भीख मांग रहे सीएम नीतीश

सुधाकर सिंह ने बिहार में कृषि कानून लागू करने और कृषि मंडी कानून को किसान हित में लाने की मांग की. उन्होंने बिना नाम लिए महागठबंधन के मुखिया और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर विशेष राज्य के नाम पर रोज दल बदलने वाला बताया. दिल्ली के सरकार के सामने कटोरा लेकर भीख मांगने का हवाला देते हुए कहा कि पिछले 17 सालों में एक व्यक्ति के द्वारा चार बार कुर्सी छोड़ा गया और 4 बार गठबंधन बदला गया लेकिन व्यक्ति वही रहा और पद भी वही रहा केवल गठबंधन बदलते रहा और नहीं बदली तो सिर्फ बिहार की तकरीर.

हमने अपने नीति और सिद्धांतों से नहीं किया समझौता- सुधाकर सिंह

सुधाकर सिंह ने महागठबंधन के मुखिया और मुख्यमंत्री पर राजद के नीति सिद्धांत और विचार से कोई सहमति नहीं होने का आरोप लगाते हुए केवल उन्हें सत्ता उनके हाथ में होने की मंशा को भी व्यक्त किया. सुधाकर सिंह ने कहा कि जब भी वो किसानों की हित में कुछ भी बोलते थे तो उन पर सत्ता में बैठे शीर्ष लोगों के द्वारा दबाव देकर चुप रहने की बात कही जाती रही. लेकिन वो कभी भी अपने नीति और सिद्धांतों से समझौता नहीं किया. बेबाकी से हर बात को रखते चले आए.

सिर्फ जन आंदोलन से डरती हैं सरकार

सुधाकर सिंह ने आम जनता से अपने हक की लड़ाई जन आंदोलन के तहत लड़ने की बात कही. उन्होंने कहा कि अगर 13 दिन लोग धरने पर बैठ जाएं तो कृषि के साथ-साथ अन्य सभी समस्याओं का समाधान हो जाएगा. क्योंकि सरकारें डरती हैं तो सिर्फ जन आंदोलन से. बांकी वह किसी से नहीं डरती है. क्योंकि उनके पास अपनी अटूट ताकत होती है. सुधाकर सिंह एक के बाद एक मुद्दे को लेकर सरकार और महागठबंधन के साथ-साथ केंद्र सरकार पर भी हमला बोलते हुए नजर आए.

रिपोर्ट : राजीव कमल

Similar Posts