41 C
Jharkhand
Thursday, April 18, 2024

Live TV

अंबा के परिवार पर रंगदारी और लेवी वसूली के गंभीर आरोप, समन जारी

रांची: बड़कागांव से कांग्रेस की विधायक अंबा प्रसाद, उनके पिता पूर्व मंत्री योगेंद्र साव, उनके रिश्तेदारों और अन्य के 20 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 12 मार्च को छापा मारा.

यह छापेमारी रंगदारी, लेवी वसूली, जमीन कब्जा, अवैध बालू खनन सहित अन्य आपराधिक मामलों के सिलसिले में की गयी थी. छापेमारी के दौरान कुल 35 लाख रुपये नकद जब्त किये गये.

इसके अलावा अंचल कार्यालय, बैंक आदि के नाम पर बनी फर्जी सील-मुहरें भी जब्त की गयी हैं. इधर इस मामले में इडी ने अंबा प्रसाद, उनके भाई अंकित राज और पिता योगेंद्र साव को समन जारी कर इडी कार्यालय में हाजिर होने को कहा है.

गड़बड़ी से संबंधित विभिन्न प्रकार के दस्तावेजों के अलावा हाथ से लिखी हुई रसीद और डायरी जब्त की गयी है. इडी द्वारा छापेमारी के सिलसिले में जारी विज्ञप्ति में इसका उल्लेख किया गया है. विज्ञप्ति में कहा गया है कि इडी ने यह कार्रवाई पीएमएलए-2002 में निहित प्रावधानों के तहत की है.

इडी ने जिला पुलिस द्वारा दर्ज 15 प्राथमिकियों को इसीआइआर को रूप में दर्ज करने के बाद यह कार्रवाई की. जिले के थानों में यह प्राथमिकियां योगेंद्र साव और उनके पारिवारिक सदस्यों के खिलाफ आइपीसी और आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत दर्ज की गयी हैं.

इनमें आरोप लगाया गया है कि योगेंद्र साव, अंबा प्रसाद और उनसे संबंधित लोग विभिन्न और मुंबई में संपात प्रकार की आपराधिक गतिविधियों में शामिल हैं.

इन आपराधिक गतिविधियों में रंगदारी, लेवी वसूली, बालू के अवैध कारोबार और जमीन कब्जा करने जैसी घटनाएं शामिल हैं. इन आपराधिक गतिविधियों से हुई कमाई का इस्तेमाल दूसरी व्यापारिक गतिविधियों के अलावा अचल संपत्ति अर्जित करने में की गयी है.

छापेमारी के दौरान ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जिससे राज्य में अवैध बालू खनन की गतिविधियों की जानकारी मिलती है. छापेमारी में मिले दस्तावेज के आधार पर आगे की जांच की जा रही है.

Related Articles

Stay Connected

115,555FansLike
10,900FollowersFollow
314FollowersFollow
16,171SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles