ट्वीट कर युवती ने खोली अस्पताल की पोल

सीएम हेमन्त को ट्वीट कर युवती ने खोली अस्पताल की पोल

author
0 minutes, 1 second Read

DHANBAD: युवती ने खोली अस्पताल की पोल – कोलकाता निवासी रिंकी सिंह के ट्वीट ने धनबाद में

सरकारी अस्पताल एसएनएमएमसीएच के कुव्यवस्था की पोल खोल दी है.

अपने परिवार में हुए हादसे के बाद उसने स्वास्थ्य विभाग की कुव्यवस्था

उजागर करने के लिए सीएम हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री को ट्विट किया है.

ट्विटर के माध्यम से उसने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से बड़ा सवाल किया है, कि आखिरकार

स्वास्थ्य विभाग की इस कुव्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार है

और कब यह व्यववस्था सुधरेगी.

रिंकी ट्वीट कर खोली अस्पताल की पोल : ‘एक नर्स के लिए भी चिल्लाना पड़ता है’

दरअसल गत 10 अक्टूबर को धनबाद के गोविंदपुर में

हुए एक सड़क हादसे में रिंकी के पिता राम बाबू सिंह

की मौत हो गई. भाई शुभम, मां उषा सिंह और

चचेरी बहन धनबाद के एसएनएमएमसीएच अस्पताल में पड़े थे.

फोन पर सूचना मिलने के बाद रिंकी कोलकाता से ट्रेन से पकड़कर धनबाद पहुंची.
रिंकी ट्विटर पर लिखती है कि अस्पताल में अपने मम्मी भाई और बहन को तड़पता देख , यह लग रहा था कि सरकारी अस्पताल में काम करने वाले लोग इंसान नहीं होते.
रिंकी ने लिखा है कि मै ट्वीट करने के अलावा और कुछ कर भी नहीं सकती लेकिन जो कर सकते हैं वो कुछ करे. अस्पताल का मैनेजमेंट ठीक से काम क्यों नहीं करता, क्यों हमें एक नर्स के लिए चीखना चिल्लाना पड़ता है,

वहीं जब पूरे मामले की जानकारी देते हुए एसएनएमएमसीएच अधीक्षक डॉक्टर अरुण वर्णवाल से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मरीज की जान बचाई जाए, यह प्राथमिकता चिकित्सकों की होती है. उन्होंने चिकित्सक से स्पष्टीकरण पूछा तो पता चला कि दो चिकित्सक ऑन ड्यूटी मौजूद थे. सीटी स्कैन पीपीपी मोड पर काम करता है इसके लिए मरीजों को बहुत कम पैसे का भुगतान करना पड़ता है. लापरवाही नहीं की गई है मरीज की जान बचाने के लिए ब्लड रोकने के लिए स्टिच जल्दी दिया जाता है लेकिन लोकल एनिस्थिसिया देने के बाद ही. उन्होंने अस्पताल प्रबंधन पर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

Similar Posts