पारदर्शी हो विधायी प्रक्रिया, बोले ‘उत्कृष्ट विधायक’ विनोद सिंह

पारदर्शी हो विधायी प्रक्रिया, बोले ‘उत्कृष्ट विधायक’ विनोद सिंह

0 minutes, 2 seconds Read

रांची : पारदर्शी हो विधायी प्रक्रिया- झारखंड विधानसभा स्थापना दिवस समारोह का आयोजन

किया जा रहा है. इस मौके पर उत्कृष्ट विधायक विनोद कुमार सिंह संबोधित करते हुए

बगोदर की जनता का धन्यवाद किया. इस मौके पर उन्होंने धरती आबा बिरसा मुंडा को नमन किया.

उन्होंने कहा कि सदन में उठाये गए सवालों के आश्वासन पर सरकार गंभीर हो.

विधायी प्रक्रिया और पारदर्शी हों. धनबाद के बाघमारा में कोयला चोरी में चार लोगों की मौत की

जांच की मांग की. अपने पिता स्वर्गीय महेंद्र सिंह को याद करते हुए कहा कि

किताबों से उनका नाता था. वे विधानसभा से सम्मान के रूप में मिली राशि से पुस्तक खरीदकर कॉलेजों को देंगे.

सदन में गंभीर रहें पक्ष-विपक्ष- मंत्री आलमगीर आलम

झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम विधानसभा स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह को

संबोधित किया. इस मौके पर उन्होंने सभी को बधाई दी.

उन्होंने पूर्व विधायक स्वर्गीय महेंद्र सिंह को याद किया.

उन्होंने अपील की कि सदन में पक्ष-विपक्ष को गंभीर होना चाहिए, ताकि सदन का समय व्यर्थ न जाए.

उसका सदुपयोग हो. उन्होंने लोकतंत्र की खूबसूरती पर जोर दिया.

पारदर्शी हो विधायी प्रक्रिया: संसदीय दायित्व के तीन वर्ष का लोकार्पण

स्पीकर रबींद्र नाथ महतो द्वारा रचित पुस्तक ‘संसदीय दायित्व के तीन वर्ष’ का लोकार्पण किया जा रहा है. इस मौके पर उड़ान पुस्तिका का विमोचन किया जा रहा है. राज्यपाल का अभिभाषण पुस्तक का विमोचन किया गया. वित्त मंत्री का बजट भाषण पुस्तक का विमोचन किया गया.

पारदर्शी हो विधायी प्रक्रिया: तीन दिनों तक चलेगा जश्न

बता दें कि तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में पहले दिन यानी 22 नवंबर को स्थापना दिवस के साथ-साथ उत्कृष्ट विधायक और कर्मियों को सम्मानित किया गया. वहीं दूसरे दिन 23 नवंबर को सांस्कृतिक समेत अन्य कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. 23 नवंबर को डॉ कुमार विश्वास का काव्य पाठ इस समारोह का मुख्य आकर्षण होगा. इसके अलावा इस दिन राज्य के स्थानीय कलाकारों के द्वारा भी प्रस्तुति दी जायेगी. इसके अलावा विधानसभा द्वारा केंद्र व राज्य संबंध पर इसी दिन राष्ट्रीय सम्मेलन भी आयोजित किया जा रहा है. देशभर के विधिक व संसदीय विशेषज्ञ नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ, रांची और पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च, पीआरएस द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में भाग लेने पहुंचेंगे. देशभर के विशेषज्ञ इसमें 10 अलग-अलग विषयों पर चर्चा करेंगे.

Read More :

Similar Posts