Vandalism in Jharkhand : दुमका में स्‍कॉर्पियो में चालक को बांधकर जिंदा जलाया, लाश और गाड़ी दोनों खाक

Vandalism in Jharkhand दुमका के जरमुंडी थाना क्षेत्र अंतर्गत कुशमाहा चिकनिया और चंदना गांव के बीच कच्ची सड़क पर स्‍कॉर्पियो में चालक को बांधकर जिंदा जला दिया गया। रोंगटे खड़े करने वाली इस बर्बर घटना में लाश और गाड़ी दोनों जलकर खाक हो गए हैं।

डिजीटल डेस्क : Vandalism in Jharkhand दुमका के जरमुंडी थाना क्षेत्र अंतर्गत कुशमाहा चिकनिया और चंदना गांव के बीच कच्ची सड़क पर स्‍कॉर्पियो में चालक को बांधकर जिंदा जला दिया गया। रोंगटे खड़े करने वाली इस बर्बर घटना में लाश और गाड़ी दोनों जलकर खाक हो गए हैं।

जले स्कॉर्पियो के अवशेष घटना की भयावहता खुद ही बयां कर रहे हैं। इस मामले में तत्काल पुलिस भी कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं। रांची से फॉरेंसिक विशेषज्ञों की टीम (एफएसएल) मौके पर पहुंच रही है और उसके बाद जल चुकी लाश का पोस्टमार्टम कराने की तैयारी है।

22Scope News

Vandalism in Jharkhand : सूचना पाकर पहुंचे सांसद प्रतिनिधि ने पुलिस को दी जानकारी

पुलिस के मुताबिक, यह बर्बर घटना गुरुवार तड़के करीब 3 बजे की है। घटना के शिकार चालक की पहचान 50 वर्षीय मोहन दास के रूप में हुई है। वह चंदना गांव का रहने वाला था और बासुकीनाथ नगर पंचायत के सरडीहा गांव निवासी बिनोद राय की स्कार्पियो चलाता था। पुलिस को यह घटना हादसा कम और सोची समझी साजिश ज्यादा लग रही है।

अंदेशा व्यक्त किया जा रहा है कि या तो चालक की हत्या करने के बाद शव को वाहन में डाल दिया गया, या फिर किसी ने वाहन में बांधने के बाद आग लगा दी। सांसद प्रतिनिधि जयप्रकाश मंडल से वाकये के बारे में सूचना मिलते ही जरमुंडी एसडीपीओ संतोष कुमार और पुलिस निरीक्षक सत्यम कुमार मौके पर पहुंचे और पड़ताल शुरू की।

दी। सांसद प्रतिनिधि जयप्रकाश मंडल से वाकये के बारे में सूचना मिलते ही जरमुंडी एसडीपीओ संतोष कुमार और पुलिस निरीक्षक सत्यम कुमार मौके पर पहुंचे और पड़ताल शुरू की।
Vandalism in Jharkhand दुमका में घटनास्थल पर पहुंचे सांसद प्रतिनिध लोगों से जानकारी प्राप्त करते हुए

घटना को हादसा नहीं साजिशन की हत्या मान रही है पुलिस

मौका मुआयना करने का बाद एसडीपीओ जरमुंडी संतोष कुमार ने मीडिया से कहा कि यह हादसा नहीं हत्या लग रही है। मौत कैसे हुई यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही साफ होगा। अनुसंधान के लिए रांची से टीम आ रही है। वह वैज्ञानिक व अत्याधुनिक तरीके से जांच करेगी। अभी शव वाहन में ही पड़ा है। उन्होंने हादसे की संभावना से इंकार करते हुए कहा कि चालक को वाहन में जरा सी खराबी होने पर तुरंत पता चल जाता है। अगर किसी वजह से वाहन में आग लगती तो चालक कूदकर भाग सकता था। जरूर, उसकी हत्या की गई है। उसे मारकर जला दिया गया या फिर जिंदा जलाया गया है, यह जांच से स्पष्ट हो जाएगा।

Vandalism in Jharkhand : पुलिस ने वाकये से पहले चालक के हर मूवमेंट का ब्योरा जानने में जुटी

आरंभिक पड़ताल में मौके पर पहुंची पुलिस टीम को पता चला है कि इस बर्बर घटना का शिकार होने से पहले चालक मोहन दास बीते बुधवार की शाम को दुधानी गांव निवासी जसविंदर माल (गाड़ी मालिक के रिश्तेदार) के परिवार को नोनीहाट का यज्ञ मेला लेकर गया था। पुलिस को जसविंदर ने बताया कि नोनीहाट से वापस दुधानी लौटने के क्रम में स्कॉर्पियो को उसने ही ड्राइव किया था। पहले कुशमाहा चिकनिया स्थित रामजीवन होटल में पूरे परिवार के लिए खाना पैक कराया। चालक ने भी होटल से पनीर पैक कराया था और रात करीब 1 बजे के करीब मोहन ने उसे घर छोड़ा और वहां से चला गया।

मौका मुआयना करने का बाद एसडीपीओ जरमुंडी संतोष कुमार ने मीडिया से कहा कि यह हादसा नहीं हत्या लग रही है। मौत कैसे हुई यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही साफ होगा। अनुसंधान के लिए रांची से टीम आ रही है। वह वैज्ञानिक व अत्याधुनिक तरीके से जांच करेगी। अभी शव वाहन में ही पड़ा है।
दुमका में बर्बरता की गवाही देता जलकर खाक हुआ स्कॉर्पियो जिसमें चालक की जली हुई लाश मिली है

Vandalism in Jharkhand : स्कॉर्पियो के धू-धूकर जलने के बाद वाकये के बारे में सामने आई सच्चाई

पुलिस को गांव वालों ने बताया कि गुरूवार सुबह 5 बजे के करीब वाहन में धू-धूकर जल रहा था। मृत मोहनदास की पत्नी ने बताया कि तड़के 3 बजे उसके बेटे ने फोन कर बताया कि स्कॉर्पियो जल रही है। उसके बाद उसने अपने पति के दोनों मोबाइल नंबरों पर कई बार रिंग जिसमें से एक मोबाइल का स्विच ऑफ था और दूसरा हर बार व्यस्त बता रहा था। मृत मोहन दास की पत्नी माधुरी देवी व बहन सरस्वतीया देवी पति के हत्या की आशंका जताई है।

उसने बताया कि हो न हो किसी ने उसके पति के हाथ पैर बांधकर पहले वाहन में डाला और फिर पेट्रोल छिड़ककर वाहन में आग लगा दी जिससे उसकी मौत हो गई। उसने जोर देकर कहा कि उसके पति की किसी से दुश्मनी नहीं थी। सुबह जली हुई स्कॉर्पियो देखने के बाद सांसद प्रतिनिधि जयप्रकाश मंडल और पांचू दास मौके पर पहुंचे।

 

Vandalism in Jharkhand Vandalism in Jharkhand