Bihar Jharkhand News
Bihar Jharkhand Latest News | Live TV

त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल को सीएम नीतीश ने दी श्रद्धांजलि

त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल को सीएम नीतीश ने दी श्रद्धांजलि

0 minutes, 0 seconds Read

पटना : त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल स्व. सिद्धेश्वर प्रसाद को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने श्रद्धांजलि दी. भूतनाथ रोड स्थित एचआईजी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, बहादुरपुर, पटना स्थित आवास जाकर उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. उसके बाद मुख्यमंत्री ने उनके शोक संतप्त परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना भी दी.

नहीं रहे त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल प्रो. सिद्धेश्वर प्रसाद

त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल एवं सुप्रसिद्ध साहित्यकार प्रो. सिद्धेश्वर प्रसाद नहीं रहे. वह 94 वर्ष के थे. तीन दिन पहले ही उन्होंने अपना 94वां जन्मदिन मनाया था. वे एक चिंतक, प्राध्यापक, मनीषी साहित्यकार और स्वच्छ राजनीति के दुर्लभ उदाहरण थे. महाकवि जयशंकर प्रसाद की महान काव्य-कृति श्कामायनीश् पर लिखी गई, उनकी समालोचना को हिंदी साहित्य जगत में विशिष्ट स्थान प्राप्त है. वे नालंदा से सांसद और भारत सरकार में मंत्री भी रह चुके थे. नागपुर में वर्ष 1975 में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन के आयोजक भी थे. रविवार की संध्या भूतनाथ रोड स्थित अपने आवास पर उन्होंने अंतिम सांस ली.

ऐसा रहा राजनीति का सफर

प्रोफेसर सिद्धेश्वर प्रसाद का जन्म 19 जनवरी 1929 को हुआ था. वह नालंदा के बिंद निवासी थे. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से जुड़े राजनेता थे. वह 1962, 1967 और 1971 में बिहार के नालंदा निर्वाचन क्षेत्र से संसद के निचले सदन लोकसभा के लिए चुने गए थे. वह 1983 से 1989 तक एमएलसी भी रहे.

राजनीति में आने से पहले वह बिहार के नालंदा कॉलेज में प्रोफेसर थे. वह जून 1995 से जून 2000 तक त्रिपुरा के राज्यपाल रहे और 1983 से 1989 तक बिहार सरकार में मंत्री भी रहे. साथ ही वे 1969 से 1977 तक केंद्र सरकार में मंत्री भी रहे. वे एक लेखक भी हैं, उनकी हिंदी भाषा में 22 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं.

एम्स पटना में चल रहा था इलाज

इंदिरा गांधी सरकार में मंत्री और त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल सिद्धेश्वर प्रसाद की तबीयत करीब दो हफ्ते पहले खराब हो गई थी. उन्हें सांस संबंधी तकलीफ और उम्र संबंधी समस्याएं होने के बाद पटना के एम्स में भर्ती कराया गया था. इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. शकील अहमद भी सिद्धेश्वर प्रसाद को देखने एम्स पहुंचे थे. पूर्व भाजपा नेता राजीव रंजन प्रसाद ने सिद्धेश्वर प्रसाद के बारे में बताया था कि उन्हें सांस लेने में काफी दिक्कत होने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था.

Similar Posts