NEET Paper Leak : सीबीआई ने नीट पेपर लीक के किंगपिन रॉकी को नेपाल फुर्र होने से पहले झारखंड से दबोचा, 10 दिनों की रिमांड पर लिया

नीट यूजी 2024 के पेपर लीक मामले में किंगपिन की तलाश कर रही सीबीआई को गुरूवार को बड़ी सफलता हाथ लगी है

डिजीटल डेस्क  : NEET Paper Leakसीबीआई ने नीट पेपर लीक के किंगपिन रॉकी को नेपाल फुर्र होने से पहले दबोचा, 10 दिनों की रिमांड पर लिया। नीट यूजी 2024 के पेपर लीक मामले में किंगपिन की तलाश कर रही सीबीआई को गुरूवार को बड़ी सफलता हाथ लगी है। अत्याधुनिक इलेक्ट्रानिक और इंटरनेट तकनीकों का उच्चतम स्तर पर इस्तेमाल करते हुए नेपाल फुर्र होने से पहले ही नीट पेपर लीक मामले में गिरोह के किंगपिन रॉकी उर्फ राकेश रंजन को गिरफ्तार किया है। रॉकी को कोर्ट में पेश कर सीबीआई ने 10 दिन की रिमांड पर लिया है। सीबीआई सूत्रों के हवाले से मिली इस जानकारी के मुताबिक, इसी मामले में बिहार की राजधानी पटना और पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता समेत 4 जगहों पर छापेमारी जारी है। रॉकी को पेपर लीक के मुख्य आरोपी संजीव मुखिया का रिश्तेदार बताया जा रहा है।

पटना और कोलकाता समेत 4 जगहों पर सीबीआई की रेड जारी

अभी सीबीआई नीट पेपर लीक मामले में 4 जगहों पर छापेमारी जारी है। इनमें पटना, पटना के पास 2 लोकेशन और कोलकाता में रेड जारी है। सीबीआई ने राकेश उर्फ रॉकी को पकड़ने के लिए काफी एडवांस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया। रॉकी की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए सीबीआई सूत्रों ने बताया कि नीट यूजी 2024 पेपर लीक मामले में रॉकी उर्फ राकेश रंजन मुख्य आरोपी संजीव मुखिया गिरोह का किंगपिंन है। इसे झारखंड से उस वक्त दबोचा गया जब वह लगातार अपना लोकेशन बदलते हुए नेपाल निकलने की तैयारी में था। पेपर लीक मामले में इस रॉकी ने अहम भूमिका निभाई थी।

रांची में रेस्टोरेंट चलाता है नीट पेपर लीक का किंगपिन रॉकी

पेपर लीक गैंग के मास्टरमाइंड संजीव मुखिया के भांजे राकेश उर्फ रॉकी ने झारखंड से नीट के पेपर उड़ाने की साजिश रची थी। रॉकी उर्फ राकेश मूलरूप से नवादा का रहने वाला है। वह रांची में अपना रेस्टोरेंट चलाता था। सीबीआई की पूछताछ में चिंटू, मुकेश, मनीष और आशुतोष ने कई बड़े खुलासे किए थे। जांच में पता चला था कि पेपर लीक गैंग के मास्टरमाइंट संजीव मुखिया के भांजे राकेश उर्फ रॉकी ने झारखंड से नीट के पेपर उड़ाने की साजिश रची थी। रॉकी ने ही पेपरलीक केस में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उसने हजारीबाग से पेपर उड़ाने की साजिश रची। इसके बाद रांची और पटना के स्कॉलर मेडिकल स्टूडेंट की मदद से पेपर सॉल्व करवाया। इस बीच संजीव मुखिया और सिकंदर यादवेंदु कई बार रांची में रॉकी से मिलने गए थे।

रॉकी को कोर्ट में पेश कर सीबीआई ने 10 दिन की रिमांड पर लिया है।
नीट पेपर लीक मामले में पहले हिरासत में लिए गए आरोपी

सीबीआई की निगाहें अब पेपर लीक के सरगना संजीव मुखिया पर

सीबीआई को अपनी जांच में यह भी पता चला कि रॉकी ने ही बीते 5 मई को प्रश्न पत्र उड़ाने के बाद सॉल्व करवाया था। उसके बाद इसे पटना में चिंटू उर्फ बलदेव के सोशल मीडिया पर भेजा गया। इन सब के लिए माफियाओं ने पिछले कई महीनों से तैयारी की थी। शुरूआती जांच के बाद बिहार की ईओयू ने नीट पेपरलीक केस को सीबीआई को हैंडओवर कर दिया था। इस मामले में सीबीआई आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को आरोपी बना चुकी है। सीबीआई ने मंगलवार को पटना से सन्नी और रंजीत को गिरफ्तार किया था। इससे पहले सीबीआई की टीम मनीष और आशुतोष को गिरफ्तार किया था। अब टीम संजीव मुखिया की तलाश कर रही है। इसी मामले में धनबाद से गिरफ्तार अमन, हजारीबाग के ओएसिस स्कूल के प्रिंसिपल रहे एहसानुल हक, वाइस प्रिंसिपल रहे इम्तियाज और पत्रकार जमालुद्दीन की रिमांड सीबीआई की विशेष अदालत ने बढ़ा दी है। चारों हजारीबाग के हैं और उनसे लगातार पूछताछ जारी है।

सीबीआई शक हुआ पुख्ता कि हजारीबाग से ही लीक हुआ था नीट का पेपर

सीबीआई की टीम ने बीते मंगलवार को दो और आरोपियों सन्नी एवं रंजीत को गिरफ्तार किया था। दोनों गिरफ्तार आरोपियों में एक परीक्षार्थी है जबकि दूसरा एक अन्य परीक्षार्थी का पिता है। गया से रंजीत और नालंदा से सन्नी को पकड़ा गया था। बीते बुधवार को इन आरोपियों की 6 दिनों की रिमांड मिली थी और उन्हीं से पूछताछ में रॉकी का संभावित लोकेशन मिला था। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि पेपर लीक मामले में में चिंटू नाम का आरोपी रिमांड पर है और उससे पूछताछ में ही पहली बार रॉकी का नाम सामने आया था। चिंटू की रिमांड अवधि खत्म होने पर उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। सीबीआई का मानना है कि झारखंड के हजारीबाग के ओएसिस स्कूल से ही नीट यूजी 2024 का पेपर लीक हुआ और मुख्य आरोपी संजीव मुखिया तक पेपर पहुंचा। फिर मुखिया ने अपने गुर्गे चिंटू के मोबाइल पर प्रश्न पत्र भिजवाया था। उसके बाद चिंटू और रॉकी ने पेपर सॉल्व कराए और  उसके बाद प्रश्नपत्र और उत्तर पटना के लर्न प्ले स्कूल में नीट अभ्यर्थियों को दिया था।

Share with family and friends: