टंडवा में लूट लिया गया गरीबों का राशन, उपायुक्त ने दिया जांच का आश्वासन

Tandwa-प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत गरीबों के मिलने वाला राशन में लूट की शिकायत सामने आयी है. बतलाया जा रहा है कि जून और जुलाई का राशन लाभुकों को नहीं देकर डिलरों ने इसकी लूट कर ली. जबकि सितंबर की राशन में भी कटौती की जा रही है. लाभुकों का आरोप है कि जनवितरण प्रणाली के डीलरों के द्वारा प्रति व्यक्ति 5 किलो राशन की जगह मात्र 2 किलो राशन दी जा रही है. जबकि ई-पॉस मशीन में पूरे 5 किलो का वितरण को दिखलाया जा रहा है. इसके कारण डीलरों और लाभुकों के बीच कहासुनी की स्थिति भी बन रही है. लाभुकों के द्वारा इसकी शिकायत स्थानीय जनप्रतिनिधियों से की गयी है.

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में लूट, डीलरों ने स्वीकारा राशन का बंदरबांट

मिश्रौल पंचायत में कार्डधारकों के द्वारा अनाज का वितरण नहीं किये जाने और अनाज कटौती को लेकर पंचायत सचिवालय परिसर में मुखिया के नेतृत्व में डीलरों की बैठक हुई. बैठक में पंचायत के मुखिया व उपमुखिया समेत अन्य जनप्रतिनिधियों के आलावे क्षेत्र की जिला परिषद सदस्य,पूर्व मुखिया व प्रखंड उपप्रमुख की भी मौजूदगी रही.

बैठक में जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में डीलरों ने जून और जुलाई महीने का राशन में बंदरबांट को स्वीकार किया. इस दौरान पंचायत के डीलरों द्वारा इस बात को स्वीकार किया गया कि 6 रूपया प्रति किलो की दर से डीलरों को इसका भुगतान हुआ था.

मिश्रौल पंचायत के मुखिया सुबेश राम ने बताया कि

ग्रामीणों की शिकायत पर जनवितरक दुकानदारों बैठक कर इसकी जानकारी ली थी,

इस बैठक में जून और जुलाई माह राशन का वितरण नहीं करने

और कार्डधारियो से ई-पॉउस मशीन में फिंगर लेने की बात स्वीकार की गयी है.

मामले की होगी जांच- उपायुक्त

जबकि इस मामले में उपायुक्त अबु इमरान ने बताया

कि सितम्बर माह में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना मद में केन्द्र से ही आवंटन कम मिला है.

जून और जुलाई माह के अनाज का वितरण नहीं किये जाने पर

उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई की जायेगी.