Bihar Jharkhand News

राजद का तुष्टीकरण नीति आया सामने- नित्यानंद राय

शिक्षा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर के विवादित बयान पर बोले नित्यानंद राय- राजद का तुष्टीकरण नीति आया सामने
शिक्षा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर के विवादित बयान पर बोले नित्यानंद राय- राजद का तुष्टीकरण नीति आया सामने
Facebook
Twitter
Pinterest
Telegram
WhatsApp

पटना : राजद का तुष्टीकरण- शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर के द्वारा रामचरित्रमानस पर दिए गए बयान पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने हमला बोला. उन्होंने कहा कि ऊंची मानसिकता के लोग हैं इसलिए इस तरीके का बयान दे रहे हैं. हम सब भगवान राम को पूजते हैं और उनके आदर्श की पूजा करते हैं.

राजद का तुष्टीकरण: राम और रामायण के बारे में चंद्रशेखर को नहीं है कोई जानकारी

मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि प्रो. चंद्रशेखर को राम और रामायण के बारे में कोई जानकारी नहीं है. राम और रामायण दोनों सत्य है. चंद्रशेखर का बयान निंदनीय है. रामायण पर अपशब्द कहकर उन्होंने अपनी पार्टी की विचारधारा को बताया है. उनके बयान से राजद का तुष्टीकरण नीति सामने आया है.

शरद यादव के निधन से भारत की राजनीति को हुई बड़ी क्षति- नित्यानंद

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बक्सर की घटना पर कहा कि सरकार को तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए. लाठीचार्ज करना बिल्कुल गलत है. किसानों को तुरंत मुआवजा मिलना चाहिए. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने शरद यादव के निधन पर शोक प्रकट किया. उन्होंने कहा कि शरद यादव के निधन से भारत की राजनीति को बड़ी क्षति हुई है.

शिक्षा मंत्री का दिमाग हो गया खराब, इलाज की जरूरत

शिक्षा मंत्री डॉ. चंद्रशेखर के विवादित बयान पर सम्राट चौधरी ने तंज कसते हुए कहा कि उनका दिमागी हालत ठीक नहीं है. उनकों इलाज की सख्त जरूरत है. मंत्री पद से डॉ. चंद्रशेखर को इस्तीफा दे देना चाहिए. संविधान के अनुसार उनको मंत्री पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है. वे पटना में बीजेपी कार्यालय के सहयोग कार्यक्रम के बाद कही.

रामचरितमानस पर शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने दिया था विवादित बयान

गौरतलब है कि बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने कहा था कि रामचरितमानस समाज में नफरत फैलाने वाला ग्रंथ है. यह समाज में पिछड़ों, महिलाओं और दलितों को शिक्षा हासिल करने से रोकता है और उन्हें बराबरी का हक देने से रोकता है.

राजद का तुष्टीकरण : ‘मेंटल अस्पताल भेजा जाए, मैं दूंगा इलाज का खर्च’

चंद्रशेखर के इस विवादित बयान पर सम्राट चौधरी ने कहा कि जिसने माता सबरी के झूठे बैर खाए हो उसके बारे में कल्पना करना भी एक तरह से पाप है. राजद के लोगों की मानसिक स्थिति गड़बड़ा गयी है. मेरे पिता जी जब स्वास्थ्य मंत्री थे तब उन्होंने कोइलवर में एक मानसिक रोग का अस्पताल खुलवाने का काम किया था हम लालू जी से आग्रह करेंगे कि आपके जो शिक्षा मंत्री है उन्हे कुछ दिन तक वहां रहकर इलाज कराने की जरूरत है. सम्राट चौधरी ने यह भी कहा कि जरूरत पड़े तो हम भी अपनी जेब से पैसा देकर उनका इलाज कराएंगे.

रिपोर्ट: राजीव कमल

Recent Posts

Follow Us

Sign up for our Newsletter