41 C
Jharkhand
Monday, June 17, 2024

Live TV

गया पहुंचे मध्य प्रदेश के CM मोहन यादव, विपक्ष पर किया जमकर हमला

CM

गया में बोले मध्य प्रदेश सीएम मोहन यादव-जिन्ना की विभाजनकारी मानसिकता को विकसित कर रहे हैं कांग्रेसी। कोलकाता हाईकोर्ट ने धर्म आधारित आरक्षण के खिलाफ फैसला देकर बताया कि यह संविधान के भावना के विरुद्ध है।

गया: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव बुधवार को दो दिवसीय दौरा पर बिहार के गया पहुंचे। गुरुवार को उन्होंने एक प्रेस वार्ता किया। प्रेस वार्ता के दौरान मोहन यादव ने कांग्रेस समेत इंडिया गठबंधन पर करारा प्रहार किया और कहा कि तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने अब तक जिन्ना की विभाजनकारी मानसिकता को विकसित किया है। वहीं उन्होंने कोलकाता हाई कोर्ट के निर्णय पर मोहन यादव ने कहा कि धर्म के आधार पर आरक्षण संभव नहीं है।

कोलकाता हाई कोर्ट के फैसले के बाद अब यह स्पष्ट हो गया कि ये लोग संविधान के विरुद्ध हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने भी माना है कि कांग्रेस ने एससी एसटी का नुकसान किया है। उन्होंने कांग्रेस पर एससी, एसटी और ओबीसी के साथ अन्याय करने का आरोप लगाते हुए कहा कि चाहे पंडित जवाहर लाल नेहरू हों, या इंदिरा गांधी, राजीव गांधी या मनमोहन सिंह, सभी के कार्यकाल में ओबीसी, एससी और एसटी के साथ अन्याय किया गया है। उनके साथ झूठ बोल कर राजनीति की गई।

मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते आए हैं कि कांग्रेस इंडी गठबंधन के लोग एससी एसटी ओबीसी के साथ झूठ बोलते हैं। ओबीसी आयोग की संवैधानिक मान्यता भी इनके कार्यकाल में नहीं दी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में ओबीसी को संवैधानिक मान्यता देने का काम किया गया।

मध्य प्रदेश सीएम ने कहा, कि कोलकाता हाई कोर्ट का निर्णय आया है, जिसमें कहा गया है कि धर्म आधारित आरक्षण नहीं हो सकता है। जाति आधारित आरक्षण ही सही है। धर्म आधारित आरक्षण संविधान की भावना के विरुद्ध है। कांग्रेस कर्नाटक में इस तरह का काम कर रही है। वहीं, ममता बनर्जी भी ऐसा कर रही है। वह यहां तक कह रही है, कि वह इस तरह के फैसले को नहीं मानती। इस तरह यह लोग कांग्रेस, टीएमसी के लोग जिन्ना की विभाजनकारी मानसिकता को विकसित कर रहे हैं, जिनके कारण देश का बंटवारा हुआ था।

मोहन यादव ने यह भी कहा कि अलीगढ़, जामिया जैसे शिक्षण संस्थान में ओबीसी एससी एसटी का आरक्षण कांग्रेसियों ने समाप्त किया। उनके अतीत के पाप खराब हैं। नेहरू हो या इंदिरा गांधी इन्होंने खुद को भी भारत रत्न दे दिया, लेकिन भीमराव अंबेडकर को भारत नहीं दिया। संविधान निर्माण का श्रेय भी कांग्रेसी भीमराव अंबेडकर को नहीं देते थे। भाजपा समर्थित सरकार ने ही भीमराव अंबेडकर को भारत रत्न दिया। पार्लियामेंट के सामने अंबेडकर साहब का तैल चित्र भी भाजपा ने लगाया है।

रघुनाथन मिश्र, सच्चर कमेटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि 60 दशकों से अधिक समय तक कांग्रेसियों ने जो काम किया है, वह अन्याय की मानसिकता है। मुसलमानों का आरक्षण कांग्रेसियों का हिडन एजेंडा है। इंडी गठबंधन एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं। कांग्रेसी ग़रीबी के मामले में झूठ बोलती रही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिर्फ इतना कहा कि मुझे नेतृत्व दीजिए और उन्होंने काफी कुछ करके दिखाया है। 25 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी रेखा से बाहर आए हैं। मोहन यादव ने यह भी कहा कि मल्लिकार्जुन खड़गे और कांग्रेस को अब माफी मांगनी चाहिए।

वही, तेजस्वी यादव और मुकेश सहनी के साथ हेलीकॉप्टर में 200 रैली पूरी करने पर केक काटने पर भी मध्य प्रदेश सीएम ने प्रतिक्रिया दी और कहा कि केक काटने के बजाए उन्हें रिजल्ट पर ध्यान देना चाहिए। वही, मध्य प्रदेश सीएम ने यह भी कहा कि 2024 का बहुमत स्पष्ट है। मोदी जी ने 2014 में पूर्ण बहुमत कहा था, वह प्राप्त हुआ। 2019 में 300 के पार कहा, वह पार किया, अब 2024 में 400 के पार भी करेंगे। पांच चरण के चुनाव के बाद स्थिति बिल्कुल स्पष्ट हो गई है।

गया से आशीष कुमार की रिपोर्ट 

https://www.youtube.com/@22scopebihar/videos

यह भी पढ़ें- SECURITY GUARD के गलत उपयोग के आरोप पर जांच करने राबड़ी आवास पहुंची टीम

CM CM CM CM CM

CM

Related Articles

Stay Connected

115,555FansLike
10,900FollowersFollow
314FollowersFollow
187,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles