Bihar Jharkhand News

प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोने लगे मंत्री अश्विनी चौबे

प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोने लगे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे
प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोने लगे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे
Facebook
Twitter
Pinterest
Telegram
WhatsApp

पटना : केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बीच प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोने लगे. दरअसल केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर हमले के विरोध में आक्रोश मार्च में शामिल भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य परशुराम चतुर्वेदी का हार्ट अटैक से निधन हो गया.

सोमवार को भगत सिंह चौक पर अचानक हार्ट अटैक आने से उनकी तबीयत बिगड़ी और थोड़ी ही देर में निधन हो गया. इस दौरान कार्यकर्ता उनको लेकर पुराना सदर अस्पताल परिसर स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, लेकिन वहां समुचित इलाज नहीं मिला.

वहां से सदर अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया. वे मंत्री के काफी करीबी थे. अश्विनी चौबे ने उनके निधन पर कहा कि उन्होंने कुर्बानी दी है. वे बक्सर उपचुनाव के भाजपा प्रत्याशी थे.

प्रेस कॉन्फ्रेंस: बक्सर में पलटी मंत्री अश्विनी चौबे की गाड़ी

अश्विनी चौबे ने बीजेपी प्रदेश कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि आज बहुत ही दुखी मन से यहां पर बैठा हूं, कल आप लोगों ने बक्सर में देखा, मेरे साथ चल रहे काफिला पलट गया, जिसमें कुछ पुलिस के जवान घायल हुए। भगवान की कृपा से मैं किसी तरह बच गया. अश्विनी चौबे ने कहा कि मैं बहुत दुखी मन से बोलना चाहता हूं कि बक्सर में कई दिनों से कैंप कर रहा हूं, मेरी गाड़ी का कल एक्सीडेंट होने के बाद मैं बाल-बाल बच गया, जिसमें मेरे दो सहयोगी सिपाही घायल हो गए.

बक्सर में किसानों की पिटाई से अश्विनी चौबे दुखी

उन्होंने कहा कि बिहार में राजद, जनता दल यूनाइटेड और कांग्रेस की महागठबंधन सरकार चल रही है. बक्सर मेरा संसदीय क्षेत्र है, जहां के सवाल को लेकर मैं चिंतित रहता हूं. मुझे बहुत दुख है, जब किसानों को बक्सर में पीटा गया और रामचरित्र मानस पर टिप्पणी की गई.

उपवास के दौरान कुछ गुंडों ने मेरे ऊपर फेंका पत्थर- अश्विनी चौबे

बक्सर के चौसा में जिस तरीके से किसानों को पीटा गया, मैं 24 घंटे उपवास पर बैठा था. रामचरित्र मानस का जब मैं पाठ कर रहा था तब कुछ गुंडे पहुंचे. जिस तरीके से वे लोग मुझ पर पत्थर फेंका उस समय वहां की लोकल पुलिस चुपचाप तमाशा देखती रही. अगर मेरे बॉडीगार्ड नहीं रहते तो कुछ भी वहां हो सकता था.

सरकार पूरी तरीके से शांत बैठी हुई है. बक्सर के डीएम और एसपी बिहार डीजीपी सभी को मैंने सूचना दी. जो मेरे बॉडीगार्ड थे, उन्होंने गुंडों को पकड़ा और वहां लोकल थाने में लेकर गए. लेकिन डीएसपी कह रहे हैं कि मंत्री अपना काम कर रहे हैं तो यह लोग अपना काम कर रहे हैं.

अश्विनी चौबे ने सीएम नीतीश से पूछे कई सवाल

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि किसानों को बदनाम करने के लिए बक्सर में दो बार मुझ पर हमले का प्रयास हुआ. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल पूछना चाहता हूं मेरे साथ जो घटना हुई है अभी तक कोई भी अपराधी क्यों नहीं पकड़ा गया, जो पकड़ा गया उसे क्यों छोड़ दिया गया. केंद्र सरकार का मंत्री हूं और मेरे प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया गया. जब मैं उपवास पर बैठा था तो मेरी हाल चाल पूछने के लिए कोई भी पदाधिकारी नहीं पहुंचा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस: सड़क दुर्घटना के पीछे साजिश- अश्विनी चौबे

अश्विनी चौबे ने कहा कि सत्ता पोषित गुंडे मेरी हत्या कराना चाहते हैं. बिहार की जनता के आशीर्वाद से मैं यहां पहुंचा हूं. बक्सर के किसानों को जिस तरीके से सरकार बेरहमी से पीटती रही अगर उस अधिकारी पर कार्यवाही नहीं होगी तो मैं फिर से आवाज उठाऊंगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कल जो मेरा एक्सीडेंट हुआ उसके पीछे साजिश रची गई.

रिपोर्ट: राजीव कमल

Recent Posts

Follow Us

Sign up for our Newsletter