आपस में भिड़े नए और पुराने कार्यकर्ता

जदयू स्वागत समारोह में आपस में भिड़े छात्र नेता

पटना : पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में जीते हुए उम्मीदवारों के स्वागत समारोह कार्यक्रम के दौरान

जदयू कार्यालय में हंगामा हो गया. इस दौरान छात्र जदयू के नए कार्यकर्ता और

पुराने कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये. छात्र संघ चुनाव में जीते उम्मीदवारों ने

पुराने कार्यकर्ताओं पर सपोर्ट नहीं करने का आरोप लगाया. जिसके बाद छात्र नेताओं के बीच

हाथापाई की भी नौबत आ गई. हालांकि वहां मौजूद वरिष्ठ नेताओं ने समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया.

जीते हुए उम्मीदवार का जदयू ने किया स्वागत अभिनंदन

बता दें कि पटना विश्वविद्यालय (पीयू) छात्र संघ चुनाव के परिणाम शनिवार की देर रात घोषित किए गए. पीयू इलेक्शन में छात्र जदयू ने परचम लहराया. अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, संयुक्त सचिव और कोषाध्यक्ष पद पर छात्र जदयू के प्रत्याशियों ने कब्जा जमाया. इसी जीत को लेकर जदयू कार्यालय में स्वागत समारोह का आयोजन किया गया. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने छात्र जदयू के जीते हुए उम्मीदवार का स्वागत अभिनंदन किया, लेकिन इसी दौरान हंगामा शुरू हो गया. हालांकि बीच-बचाव के बाद मामले को शांत करा लिया गया.

छात्र संघ चुनाव में जदयू ने लहराया परचम

पटना विश्वविद्यालय (पीयू) छात्र संघ चुनाव में छात्र जदयू ने परचम लहराया. अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, संयुक्त सचिव और कोषाध्यक्ष पद पर छात्र जदयू के प्रत्याशियों ने कब्जा जमाया. महासचिव का एक पद बीजेपी समर्थित एबीवीपी के खाते में गया. बड़ी बात यह रही कि छात्र राजद के प्रत्याशी एक भी पद पर विजय नहीं हासिल कर सके.

आनंद बने अध्यक्ष, विक्रमादित्या उपाध्यक्ष

अध्यक्ष पद पर छात्र जदयू के आनंद मोहन ने कब्जा जमाया. आनंद को 3710 मत मिले. जबकि एआइएसएफ एनएसयूआइ गठबंधन के शाश्वत कुमार को 2517 वोट मिला. वहीं उपाध्यक्ष पद छात्र जदयू के विक्रमादित्य सिंह को खाते में गया. वह 1329 वोट से जीते. विक्रमादित्य को 4055 वोट मिले, जबकि एबीवीपी की प्रतिभा को 2726 मत मिले. संयुक्त सचिव पद पर छात्र जेडीयू की संध्या कुमारी ने कब्जा जमाया. कोषाध्यक्ष पद पर जेडीयू के रविकांत कुमार विजयी रहे. वहीं महासचिव का एक पद भाजपा समर्थित एबीवीपी के विपुल कुमार के पास गया. निर्दलीय मो. मुदब्बीर को 2231 आया.

54.38 प्रतिशत हुआ मतदान

इसके पहले शनिवार को फायरिंग व छिटपुट घटनाओं के बीच चुनाव संपन्न हुआ. इलेक्शन में 54.38 प्रतिशत मतदान हुआ. पिछली बार की तुलना में इस बार 4.21 प्रतिशत मत कम पड़े. वर्ष 2019 में छात्र संघ चुनाव में 58.69 प्रतिशत मतदान हुआ था. वर्ष 2018 में 58.5 प्रतिशत मतदान हुआ था. मतदाता सूची में 24,523 विद्यार्थियों के नाम थे, जिनमें से 13,337 ने मताधिकार का प्रयोग किया.

रिपोर्ट: प्रणव राज

Read More :

Similar Posts