विधानसभा सत्र की कार्यवाही में बढ़ते अवरोध पर राज्यपाल ने जताई चिंता

विधानसभा सत्र की कार्यवाही में बढ़ते अवरोध पर राज्यपाल ने जताई चिंता

रांची : विधानसभा सत्र की कार्यवाही- झारखंड विधानसभा के 22वें स्थापना दिवस की

शुभकामना देते हुए राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि 28वें राज्य के रूप में झारखंड का निर्माण हुआ.

इसके लिए उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद कर नमन किया.

वाजपेयी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की. वाजपेयी ने झारखंड के लोगों के हितों को ध्यान रखते हुए

अलग राज्य का निर्माण किया. राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि आज का दिन

चिंतन और मनन करने का भी है कि हम अपने कर्तव्यों के प्रति कितने सजग है.

जनहित के विषयों पर सदन में अधिक से अधिक करें चर्चा

विधानसभा के कार्यवाही के घटते अवधि पर चिंता जताते हुए राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि सदन में किसी भी कानून के निर्माण से पहले उस पर विस्तृत चर्चा होनी चाहिए. विधायकों को सदन में जनहित के विषयों पर अधिक से अधिक चर्चा करना चाहिए और सरकार से उसका समाधान निकालना चाहिए. जनप्रतिनिधियों को सदन में जनता की आवाज बननी चाहिए. जनहित के विषयों को गरिमा के साथ सदन में उठाएं, ताकि आपके क्षेत्र की जनता को आप पर गर्व हो और कहे कि हमारा विधायक सर्वश्रेष्ठ है.

विधानसभा सत्र की कार्यवाही: सदन में क्षेत्र का मुद्दा उठाएं जनप्रतिनिधि

राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि हमारे देश को लोकतंत्र की जननी कहा जाता है लोकतंत्र में जनता सर्वाेपरि है. लोकतांत्रिक संस्थाओं के मर्यादा को बनाये रखना राजनीतिक दलों के साथ जनता का भी दायित्व है. जनप्रतिनिधि के आचरण और व्यवहार पर संस्था की गरिमा निर्भर करती है. विधानसभा सत्र छोटा होना सदन की कार्यवाही में बढ़ते अवरोध चिंता का विषय है. कानून बनाते समय चर्चा करनी चाहिए, सदन में क्षेत्र का मुद्दा उठायें. समय-समय पर की जानी वाली समीक्षा समितियां सरकार को आईना दिखाती हैं.

विधायक विनोद सिंह के कार चोरी पर क्या बोले राज्यपाल

राज्यपाल ने कहा कि झारखंड विधानसभा अपने स्थापना दिवस पर उत्कृष्ट विधायक विनोद सिंह को सम्मानित होने पर बधाई दी. उन्होंने कहा कि विधायक विनोद सिंह की जब कार चोरी हो गयी थी, तब वहां की जनता ने उन्हें चंदा कर कार खरीदकर दी थी. ये जनता का उनके प्रति स्नेह है. विनोद सिंह अपने क्षेत्र की समस्या को उठाते रहे हैं. विनोद सिंह को जनता का स्नेह प्राप्त है. मैंने भी राजनीतिक जीवन में अपने दरवाज़े जनता के लिए हमेशा खोलकर रखा.

Read More :

Similar Posts